Truecaller का इस्तेमाल करने वाले यूजर्स के लिए यह खबर चिंता का कारण बन सकती है। एक साइबर अपराधी ने Truecaller से 4.75 करोड़ भारतीयों का रिकॉर्ड चोरी करने का दावा किया है। यह शख्स 75,000 रुपए में डाटा बिक्री के लिए उपलब्ध होने का दावा भी कर रहा है। ऑनलाइन इंटेलिजेंस फर्म साइबल की रिपोर्ट के अनुसार, साइबर अपराधी ने इन आंकड़ों का स्रोत ट्रूकॉलर Truecaller को बताया है। हालांकि Truecaller के प्रवक्ता ने अपने डाटाबेस में किसी तरह की चोरी से इन्कार किया है और कहा है कि कंपनी के नाम का उपयोग इसलिए किया जा रहा है, ताकि डाटा विश्वसनीय लगे।

साइबल ने एक ब्लॉग में लिखा है, हमारे शोधकर्ताओं ने एक प्रतिष्ठित विक्रेता की पहचान की है, जो कि 1000 डॉलर (लगभग 75,000 रुपए) में 4.75 करोड़ भारतीयों का Truecaller रिकॉर्ड बेच रहा है। डाटा 2019 से लेकर अब तक का है। हम भी इतनी कम कीमत पर बिक्री से आश्चर्यचकित हैं। बिक्री के डाटा में फोन नंबर, लिंग, शहर, मोबाइल नेटवर्क, फेसबुक आइडी आदि शामिल हैं।

साइबल ने कहा, हमारे शोधकर्ता अपने विश्लेषण के साथ आगे बढ़ रहे हैं। लेकिन स्पष्ट रूप से इस लीक का भारत में स्पैम, पहचान की चोरी आदि पर संभावित प्रभाव पड़ सकता है। जैसे ही हमें अधिक जानकारी मिलती है, हम इस ब्लॉग को अपडेट करेंगे।

इस बीच, Truecaller के प्रवक्ता का कहना है कि हमारे डाटाबेस की कोई चोरी नहीं हुई है और हमारे सभी यूजर्स की जानकारी सुरक्षित है। हम अपने यूजर्स की प्रायवेसी, गोपनीयता और अपनी सेवाओं की विश्वसनीयता को बहुत गंभीरता से लेते हैं। हम संदिग्ध गतिविधियों की लगातार नजर रख रहे हैं। Truecaller को मई 2019 में डाटा की इसी तरह की बिक्री के बारे में जानकारी है। उनके पास पहले की तरह समान डाटासेट होने की आशंका है। बहरहाल, इस पूरे घटनाक्रम के बीच यूजर्स को चिंता सता रही है कि कहीं उनकी जानकारी गलत हाथों में न पड़ जाए।

Posted By: Arvind Dubey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना