फ्रांसीसी सेना जल्द ही युद्ध के मैदान में अपने मशीनी कुत्ते के साथ उतरनेवाली है। इन दिनों फ्रांसीसी सेना के एक शिवर में रोबोट डॉग स्पॉट का परीक्षण चल रहा है। सैनिकोंं ने कब्जा करने वाली आक्रामक कार्रवाई, रात और दिन के दौरान रक्षात्मक कार्रवाई और शहरी युद्ध जैसे जैसे लक्ष्यों को हासिल करने लिए रोबोट डॉग से साथ परीक्षण किया। शुरुआती जांच में ये काफी फायदेमंद साबित हो रहा है।

स्पॉट नाम के इस रोबोट डॉग को गूगल के स्वामित्व वाली अमेरिकी कंपनी बोस्टन डायनामिक्स ने बनाया है। इसमें कैमरे लगे हैं और इसे रिमोट से कंट्रोल किया जा सकता है। खास बात इसकी डिजाइन, जो इसे दूसरे रोबोट्स के मुकाबले बेहतर बनाती है। इसमें कुत्तों की तरह 4 पैर हैं, इस वजह से ये पहिये या अन्य तरीके से चलनेवाले रोबोट के मुकाबले आनेवाली बाधाओं को आसानी से पार कर सकता है। इसका संतुलन अच्छा है और ऊबड़-खाबड़ जगहों पर भी आसानी से चल सकता है।

परीक्षण की रिपोर्ट के मुताबिक, इस रोबोट डॉग की वजह से सैनिकों की गति थोड़ी कम हो गई, लेकिन इससे उन्हें सुरक्षित रहने में काफी मदद मिली। इसके अलावा इसके बैटरी डाउन होने की भी समस्या सामने आई। लेकिन फिर सैनिकों का कहना था कि जहां हमने रोबोट का इस्तेमाल नहीं किया, वहां गोली खाई। और जहां रोबोट डॉग साथ गया, हम बिना निशाना बने अपने मिशन पूरा कर सके।

रिपोर्ट के मुताबिक अभी इनका इस्तेमाल सिर्फ इलाके के नेविगेशन के लिए किया गया है और कंस्ट्रक्शन साइट, खदान, कारखानों और भूमिगत सर्वेक्षणों में उपयोगी साबित हुआ है। लेकिन इसमें कोई दो राय नहीं कि आनेवाले कुछ सालों में इसका सेना, पुलिस, रक्षा, खोज-अभियान आदि में विस्तृत प्रयोग होने लगेगा।

Posted By: Shailendra Kumar

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

Assembly elections 2021
Assembly elections 2021
 
Show More Tags