Google Chrome : यदि आप भी गूगल क्रोम ब्राउजर का ही इस्‍तेमाल करते हैं तो यह आपके काम की खबर है। ध्‍यान से पढ़ें। गूगल क्रोम जल्‍द ही ब्राउजर की सर्विस और लुक्‍स में कुछ बदलाव करने जा रहा है। इस चेंज के बाद इसमें कुछ नए बटन, कुछ नए ड्रॉपडाउन और अन्‍य कंट्रोल के रूप में लुक्‍स में सुधार होगा। गूगल का कहना है कि इस चेंज का मकसद टच-फ्रेंडलीनेस को बढ़ाना है ताकि यह अधिक से अधिक एक्‍सेस किया जा सके।

एक ब्‍लॉग पोस्‍ट में गूगल ने यह कंफर्म किया है कि पुराने कंट्रोल अभी तक इस्‍तेमाल किए जा रहे Operating System OS ऑपरेटिंग सिस्‍टम से मैच करने के लिए स्‍टाइल किए गए थे लेकिन अब जो नए कंट्रोल होंगे वे इस तरह डिजाइन किए गए हैं जो कि उस समय के फेमस लुक्‍स को शेयर कर सके। इसके परिणामस्‍वरूप यूआई कई बार मिस्‍मैच्‍ड और आउटडेटेड हो जाती थी। डेवलपर्स को अक्‍सर कंट्रोल डिस्‍प्‍ले करने के लिए एक्‍स्‍ट्रा टाइम लगाना होता था।

सो, इस समस्‍या का हल करने के लिए माइक्रोसॉफ्ट एज Microsoft Edge (क्रोमियम पर बनी) और गूगल क्रोम Google Chrome ने करीब एक साल से साथ में काम कर रहे थे ताकि फंक्‍शन को और इंप्रूव किया जा सके। कंपनी ने कहा है कि इस इश्‍यू को सुलझाने के लिए ही माइक्रोसॉफ्ट एज Microsoft Edge और गूगल क्रोम Google Chrome ने एक साथ पूरा एक साल बिताया और क्रोमियम ब्राउजर पर बिल्‍ट-इन फार्म फंक्‍शन को सुधारने की दिशा में काम किया। इन दोनों कंपनियों ने फार्म कंट्रोल सहित दूसरे इंटरेक्टिव एलीमेंट्स जैसे लिंक्‍स को आसानी से प्राप्‍त करना, यूज करना जैसी जरूरतों पर भी काम किया है।

ऐसे करें चेंजेस इनेबल Enable Changes

यह कहा गया है कि Microsoft Edge browser में ये बदलाव अप्रैल की शुरुआत के साथ ही लागू हो जाएंगे और क्रोम 81 अपेडट Chrome 81 update (under the ‘experimental’ tag) के तौर पर सामने आएं। इसे इनेबल करने के लिए chrome://flags/#form-controls-refresh पर विजिट करें और चेंज को अप्‍लाय करें। एंड्रायड में ये बदलाव इस साल के अंत तक आ सकता है।

यह होगा खास बदलाव

बदलाव के तौर पर गूगल ने Gradients रीमूव कर दिए हैं और पहले से अधिक फ्लैट डिजाइन का उपयोग किया है जो कि मौजूदा डिजाइन से इंस्‍पायर है। जहां तक टच सपोर्ट और एक्‍सेसिबिलिटी की बात है, क्रोम और माइक्रोसॉफ्ट ऐज टीम ने ना केवल डिफॉल्‍ट स्‍टाइल को इंप्रूव किया है बल्कि टच सपोर्ट को बढ़ाने के लिए फार्म कंट्रोल की एक्‍सेसिबिलिटी भी बढ़ाई है। इतना ही नहीं, एक नया फोकस इंडीकेटर भी अब मौजूद होगा जो कि अंधेरे और उजाले दोनों तरह के बैकग्राउंड में यूज किया जा सकेगा।

टू इन वन लैपटॉप को ध्‍यान में रखा

कंपनी का कहना है कि इसने टू इन वन लैपटॉप जैसी डिवाइस की साइज को ध्‍यान में रखते हुए काम किया है। यह सुविधा अब से पहले केवल मोबाइल डिवाइस पर भी उपलब्‍ध थी। लेकिन अब अधिक स्‍पेस के साथ लार्जर टैप की सुविधा मिलेगी। इतना ही नहीं, कलर पिकर भी इंप्रूव किया गया है। अभी तक यह पूरी तरह से की-बोर्ड से एक्‍सेस किए जाने योग्‍य नहीं था, यानी वे यूजर्स जो की-बोर्ड के भरोसे थे या डिवाइस बदल लेते थे, वे इसका यूज नहीं कर पाते थे। हालांकि अब नए लुक्‍स के साथ यह पूरी तरह से की-बोर्ड एक्‍सेसिबल भी हो गया है।

Posted By: Navodit Saktawat

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस