डिजिटल पेमेंट कंपनी Google Pay और PhonePe अब नेशनल पेमेंट्स कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया (NPCI) के साथ मिलकर अपने ग्राहकों को एक खास सुविधा प्रदान करने जा रही हैं। इसकी वजह से अब ग्राहकों को हर महीने दिए जाने वाले बिजली बिल, EMIs, मोबाइल बिल और इंश्योरेंस प्रीमियम जैसे रिकरिंग पेमेंट्स की चिंता नहीं करना पड़ेगी।

Goole Pay और PhonePe के ग्राहकों को इस सर्विस का उपयोग करने के लिए ऑटो डेबिट सुविधा का विकल्प चुनना होगा। एक बैंकर ने नाम उजागर नहीं किए जाने की शर्त पर बताया कि Google Pay और PhonePe ने रिकरिंग पेमेंट प्लेटफॉर्म पर काम करना शुरू कर दिया है और एक महीने के अंदर ये सुविधा शुरू हो सकती है। अभी इस पर काम चल रहा है और पहले इसका टेस्ट किया जाएगा, इसके बाद ही इसे करोड़ों ग्राहकों के सामने पेश किया जाएगा।

NPCI ने 22 जुलाई से एचडीएफसी बैंक, स्टेट बैंक ऑफ इंडिया और एक्सिस बैंक के साथ रिकरिंग पेमेंट सुविधा शुरू कर दी है। इसमें UPI यूजर UPI pin के जरिए रिकरिंग पेमेंट कर सकता है। नियमों के मुताबिक, NPCI विकसित त्वरित पेमेंट प्रणाली केवल 2000 रुपए तक के रिकरिंग पेमेंट की अनुमति रहेगी। बाद में इस लिमिट को बढ़ा दिया जाएगा।

ऑटो डेबिट सुविधा के लिए ग्राहक को पिन के माध्यम से समय सीमा भी तय करनी होगी कि वो कब तक इस सुविधा को चाहता हैं। एक बार ऐप में प्रमाणित करने के बाद ऑटो डेबिट की सुविधा काम करना शुरू कर देगी। यूपीआई ऑटो-पे सुविधा के तहत सिंगल पेमेंट के साथ ही दैनिक, साप्ताहिक, पाक्षिक, हर महीने, हर दूसरे महीने, तिमाही, छमाही और सालाना आधार पर पेमेंट करने की सुविधा प्रदान की जाएगी। गूगल पे और फोन पे की इस पहल से ग्राहकों की बड़ी परेशानी दूर हो जाएगी।

Posted By: Kiran K Waikar

  • Font Size
  • Close