ऑकलैंड (कैलिफोर्निया)। देश और दुनिया में Covid-19 को रोकने के लिए सरकारों ने लॉकडाउन किया है और उसका पालन करने और करवाने की कोशिशें की जा रही हैं। इसके बावजूद कुछ लोग हैं जो अपनी और दूसरों की जान की परवाह किए बगैर बाजार और गलियों में घूमते मिलते हैं। ऐसे ही लोगों की लोकेशन Google ने दर्ज की है और अब इसे जारी किया है। Google ने 131 देशों के लिए लोकेशन डाटा रिपोर्ट जारी की है। हालांकि, गूगल ने साफ किया है कि इस डेटा के लिए उसने किसी भी यूजर की पर्सनल इंफॉर्मेशन का उपयोग नहीं किया है।

Google की इस रिपोर्ट से यह बताने में मदद मिलेगी कि Coroanvirus का संक्रमण रोकने के लिए जिस समय कई देशों में सरकारों ने लोगों को घर पर रहने का आदेश जारी किया था तो उस दौरान दुकान, पार्क और कार्यस्थल फर जाने वालों की संख्या में कमी आई या नहीं। मार्च माह में कई देशों ने अपने नागरिकों को घरों से बाहर ना निकलने का आदेश जारी किया था।

Google के लाखों फोन यूजर्स के लोकेशन डाटा का यह विश्लेषण सबसे बड़ा सार्वजनिक डाटा हो सकता है। डाटा स्वास्थ्य अधिकारियों के लिए यह आकलन करने में मददगार साबित होगा कि लोग अपने घरों में ही रहने और दुनिया भर में जारी ऐसे ही आदेश का पालन कर रहे हैं या नहीं। संक्रामक रोग विशेषज्ञों का कहना है कि उम्र, आय और अन्य जनसांख्यिकी हिसाब से समूहों की यात्रा के विश्लेषण से सार्वजनिक सेवाओं की घोषणा को आकार देने में मदद मिलेगी।

बता दें कि संक्रमण के इस दौर में चीन, सिंगापुर तथा दक्षिण कोरिया समेत कई देशों ने अपने लोगों से शारीरिक दूरी बनाए रखने के लिए अधिक-अधिक से एप का इस्तेमाल करने का निर्देश दिया था। गूगल की लोकेशन हिस्ट्री से यूजर्स की सक्रियता का पता आसानी से लगाया जा सकेगा।

Posted By: Ajay Kumar Barve

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना