TV देखने वालों के लिए अच्छी खबर है। टेलीकॉम रेगुलेटरी अथॉरिटी ऑफ इंडिया (ट्राई) ने DTH और केबल सर्विस की दुनिया में क्रांतिकारी बदलाव की नींव रखी है। ट्राई ने सूचना तथा प्रसारण मंत्रालय से सिफारिश की है कि सभी Set Top Box को इंटर ऑपरेबल बनाना अनिवार्य किया जाए। यानी बिना सेट टॉप बॉक्स बदले किसी भी सर्विस प्रोवाइडर से सेवा लेने की सुविधा। ऐसा होने से डीटीएच और केबल सर्विस में पोर्टबिलिटी संभव होगी। जानिए क्या है क्या है इंटर ऑपरेबिलिटी और इससे आम उपभोक्ता को कैसे फायदा होगा -

पढ़िए ट्राई की पूरी सिफारिश

'देश में सभी Set Top Box को तकनीकी तौर पर इंटर ऑपरेबिलिटी में सक्षम होना चाहिए। इसके लिए कंपनियों को 6 महीने का समय देने की बात कही गई है। एक को-ऑर्डिनेशन कमेटी बनाई जाए, जिसमें इलेक्ट्रॉनिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय, ट्राई, भारतीय मानक ब्यूरो और टीवी विनिर्माता शामिल हो। Set Top Box के साथ-साथ सभी TV बनाने वाली कंपनियों को भी ऐसे डिजिटल टीवी बनाने का निर्देश दिए जाएं, जिनमें यूएसबी पोर्ट बेस्ड कॉमन इंटरफेस हो। सभी डिजिटल टीवी में अनिवार्य रूप से एक ऐसा ओपन यूएसबी पोर्ट होगा जिससे डीटीएच या केबल सर्विस को कनेक्ट किया जा सकेगा।'

इंटर ऑपरेबिलिटी मिलने का क्या अर्थ है

Set Top Box के इंटर ऑपरेबल होने का अर्थ है कि वह किसी भी सर्विस प्रोवाइडर की सर्विस को सपोर्ट कर सकेगा। इसमें डीटीएच ऑपरेटर और केबल ऑपरेटर भी शामिल हैं। ग्राहक किसी भी सेवा प्रदाता से या बाजार में किसी ओपन सोर्स से Set Top Box खरीदकर इस्तेमाल कर सकेगा।

ग्राहकों का ऐसे होगा फायदा

अभी ग्राहक को सेवा प्रदाता की तरफ से ही Set Top Box मिलता है। सेवा प्रदाता बदलने के लिए Set Top Box भी बदलना पड़ता है। इस झंझट से बचने के लिए ग्राहक चाहकर भी सर्विस प्रोवाइडर नहीं बदलता है। अब ऐसा नहीं होगा। साथ ही सेवा प्रदाताओं में बेहतर सेवा देने की चुनौती बढ़ेगी।

Posted By: Arvind Dubey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना