नई दिल्ली। दुनिया की करीब 15 फीसद यानी एक अरब से ज्यादा आबादी किसी ना किसी तरह की दिव्यांगता का शिकार है। टेक्नोलॉजी की दुनिया की दिग्गज कंपनी माइक्रोसॉफ्ट ने आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस (एआइ) के जरिये ऐसे लोगों की मदद का बीड़ा उठाया है। भारत में कंपनी के प्रमुख अनंत माहेश्वरी ने बताया कि कंपनी इस दिशा में हर संभव रास्ता तलाश रही है।

2008 में कान की गंभीर समस्या से पीड़ित रह चुके माहेश्वरी ने कहा कि दुनिया में करीब 20 करोड़ लोग ऐसे हैं जिन्हें रोजमर्रा के कामों में दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। अंतरराष्ट्रीय दिव्यांगजन दिवस के मौके पर अपने ब्लॉग में माहेश्वरी ने कहा, 'हर व्यक्ति को सशक्त करना हमारा लक्ष्य है।

माइक्रोसॉफ्ट इसी विचार के साथ हर उत्पाद विकसित करती है। आप सीइंग एआइ एप को देख सकते हैं, यह एप हर दिखाई देने वाली वस्तु की बोलकर व्याख्या करता है। इसी तरह एआइ टेक्नोलॉजी कम देख पाने या नहीं देख पाने वालों को कई तरह से मदद करने में सक्षम है। माइक्रोसॉफ्ट का ट्रांसलेटर कम सुनने वालों के लिए मददगार है।'

माहेश्वरी ने कंपनी की ओर से विकसित अन्य कई प्रोग्राम और एप का भी जिक्र किया जिनसे दिव्यांगजनों को मदद मिलती है।

Posted By: