National Technology day 2022: हर साल 11 मई को राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी दिवस (National Technology day 2022) मनाया जाता है। इस दिन राजस्थान में साल 1998 में 'शक्ति' पोखरण में परमाणु परीक्षण किया गया था, जो टेक्नोलॉजी क्षेत्र में भारत के लिए बड़ी कामयाबी थी। इसी उपलक्ष्य में ही हर साल राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी दिवस मनाया जाता है। इसका उद्देश्य भारत की प्रौद्योगिकी ताकत, कमजोरियों और लक्ष्य पर विचार करना है। इस दिन आप अपने परिवार और दोस्तों को इन मैसेजेस, कोट्स और फोटोज़ के जरिए टेक्नोलॉजी डे की बधाई सकते हैं...

टेक्नोलॉजी ने जीवन बना दिया आसान,

फिर भी आज हर कोई बहुत है परेशान,

ईमानदारी से कर्म करने में ही सुख है

शायद इस बात से हर कोई है अंजान।

राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी दिवस हर भारतीय के लिए हमेशा एक गर्व का दिन होगा और हमें इस विशेष अवसर को बहुत उत्साह के साथ मनाना चाहिए।

राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी दिवस की शुभकामनाएं...

आविष्कार करके नई-नई टेक्नोलॉजी लाएं,

अपने देश का आन-मान-शान बढ़ाएं,

आपको राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी दिवस

की दिल से हार्दिक शुभकामनाएं।

यह हर भारतीय के लिए गर्व से भरा दिन है, क्योंकि इसी दिन हमने पोखरण में परमाणु ऊर्जा परीक्षण किया था....

हैप्पी नेशनल टेक्नोलॉजी डे

कोई भी पर्याप्त रूप से उन्नत तकनीक

जादू से अलग करने योग्य नहीं है।

'शक्ति' को हमेशा याद रखें जो भारत की तकनीकी प्रगति की यात्रा में एक महत्वपूर्ण मील का पत्थर साबित हुआ।

राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी दिवस की शुभकामनाएं।

टेक्नोलॉजी का प्रयोग

बुद्धिमानी से करेंगे तो

सबको खुशहाली देगा,

अगर इसका प्रयोग

क्रोध और नफरत में

करोगे तो तबाही देगा।

राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी दिवस के अवसर पर हम कामना करते हैं कि भारत हमेशा प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में एक मजबूत राष्ट्र बनने में आगे बढ़ता रहे।

मुझे टेक्नॉलजी से प्यार है,

इसने मेरे जीवन को आसान बनाया है,

इस पर गुस्सा तब आता है

जब यह मुझमें आलस्य भरने की

कोशिश करता है.

इस अवसर पर कू सोशल मीडिया के सेह संस्थापक मयंक बिदवताका ने बताया कि यह 'टेकेड' यानी तकनीक का दशक है, जो भारत के नाम है। कुछ वक्त के लिए वैश्विक सूचना प्रौद्योगिकी सेवा क्षेत्र पर हावी होने के बाद, भारत में तकनीकी उद्योग विकसित होगा और देश भविष्य में उत्पादों के क्षेत्र में एक कमान संभालने वाली दमदार स्थिति हासिल करेगा। भारत के 'तकनीकी उद्यमी' पहले से ही ऐसे मजबूत उत्पादों का निर्माण कर रहे हैं, जो दुनिया भर के उपभोक्ताओं के सामने आने वाली चुनौतियों को दूर करने के लिए बेहतरीन समाधान पेश करते हैं।

उदाहरण के लिए, देसी भाषाओं में आत्म-अभिव्यक्ति का इस्तेमाल न केवल एक भारत-केंद्रित चुनौती है, बल्कि एक वैश्विक चुनौती भी है, जिसका सामना यूरोप, एशिया, अफ्रीका, मध्य पूर्व और लैटिन अमेरिका में गैर-अंग्रेजी भाषी देशों के इंटरनेट यूज़र्स कर रहे हैं। हमने यहाँ भारत में जो बनाया है, उसे दुनिया में कहीं भी अपनी मातृभाषा में सोशल मीडिया पर खुद को व्यक्त करने के लिए तरसने वाले इंटरनेट यूज़र्स के लिए बहुत आसानी से ले जाया जा सकता है।

कू ऐप की ही तरह, कई अन्य उत्पाद और प्लेटफॉर्म भारत से बाहर निकलते रहेंगे, आम मुश्किलों का समाधान करेंगे और वैश्विक स्तर पर तकनीकी क्षेत्र पर हावी होंगे। प्रतिभा के एक बड़े पूल और विश्व स्तर पर बड़े पैमाने पर महत्वाकांक्षा के साथ, उद्यमी भारत को एक सेवा प्रदाता से एक उत्पाद निर्माता के रूप में बदलने में मदद करेंगे। भारत में भारतीयों के लिए और दुनिया के लिए तकनीक बनेगी।

Posted By: Arvind Dubey

  • Font Size
  • Close