National Technology Day 2022: भारत में हर साल 11 मई को नेशनल टेक्नोलॉडी डे मनाया जाता है। यह दिन एयरोस्पेस इंजीनियर और राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम के नेतृत्व में पोखरण परमाणु परीक्षण (ऑपरेशन शक्ति) की वर्षगांठ का भी प्रतीक है। इसके सफल परीक्षण के बाद तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी दिवस शब्द गढ़ा। यह दिन हमारे देश के लोगों द्वारा की गई वैज्ञानिक प्रगति की याद दिलाता है। निश्चित रूप से उन सभी लोगों को मनाने का आदर्श दिन है। जिन्होंने अपने ज्ञान के साथ मूल्य जोड़ा और इतिहास बनाया। साथ ही विज्ञान के विकास में हमेशा के लिए योगदान देने वाले अपने नामों को संरक्षित किया।

किया गया था परमाणु परीक्षण

इस परीक्षण के अगुआ एपीजे अब्दुल कलाम थे। इसरो ने इस परीक्षण का नाम शक्ति रखा था। जब इसका परीक्षण किया गया तब पोखरण के आसपास 5.3 रिएक्टर स्केल का भूकंप दर्ज किया गया था। भारत ने 11 मई को पहला परमाणु परीक्षण किया। फिर 13 मई को लगातार 2 परमाणु परीक्षण किए थे।

डीआरडीओ को मिली थी सफलता

इस परमाणु परीक्षण के एक साल बाद 11 मई 1999 से राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी दिवस के रूप में मनाया जाने लगा। आज के दिन को नेशनल टेक्नोलॉजी डे मनाए जाने के पीछे परमाणु बम परीक्षण एक बड़ा कारण है। साथ ही इस दिन डीआरडीओ ने त्रिशूल मिसाइल का सफल परीक्षण किया था। त्रिशूल मिसाइल शॉर्ट रेंज में तेजी से हमला करने में सक्षम है। साथ ही आज के दिन Hansa-3 स्वदेशी एयरक्राफ्ट ने भी पहली उड़ान भरी थी।

Posted By: Shailendra Kumar