agricultural law trended on Koo । शुक्रवार को पीएम मोदी ने तीन कृषि कानूनों की वापसी का ऐलान कर दिया. इसके बाद अब किसान आंदोलन के भविष्य को लेकर 32 किसान संगठन बैठक करेंगे, जिसमें आंदोलन के दौरान किसानें पर हुए मुकदमे को लेकर भी मांग उठ सकती है। सोशल मीडिया पर कृषि कानून के बाद लोग अब पूर्व में हुए आंदोलनों को लेकर भी सवाल उठानें लगे हैं, जिसमें कई लोगों का मानना है कि कृषि कानूनों के बाद अब CAA को भी वापस लिया जाए। सोशल मीडिया प्लेटफ़ॉर्म Koo पर कई लोगों ने इसको लेकर पोस्ट किए, जिसके बाद #हककीलड़ाई ट्रेंड करने लग गया।

Koo App

AIMIM नेता आसिम वक़ार ने एक वीडियो पोस्ट करते हुए कहा कि देश के किसान भाईयों को मेरी और मेरी पार्टी की तरफ से जीत की बहुत-बहुत बधाई ... देश जीत गया, अहंकार हार गया...यही लड़ाई हमें CAA और NRC पर भी लड़नी पड़ेगी।

पीस पार्टी यूपी ने Koo पर पोस्ट करते हुए लिखा, CAA प्रोटेस्ट के दौरान भी कई मौतें हुईं, महीनों बहनों ने देश भर में धरना दिया, दर्जनों नौजवान अब भी जेलों में बंद हैं। देश के मुसलमान,किसान, दलित,आदिवासी भी CAA क़ानून का विरोध करते रहे हैं इसलिए सरकार को अब इसे भी वापस लेना चाहिए और प्रदर्शनकारियों को रिहा करना चाहिए।

वहीं, इंजीनियर शदाब खान ने भी Koo पोस्ट पर लिखा कि आज तीनों काले कानूनों की वापसी जो हमारे दबाव में हुई है यह आंदोलनजीवियों की जीत व अहंकारजीवियों और नफरतजीवियों की हार है. यह हम किसानों के त्याग बलिदान और संघर्ष की जीत है. यह जान लो किसान गुलाम नहीं. इंशाल्लाह अब CAA वापसी का संघर्ष होगा.

हैशटैग ट्रेंड होने के बाद कई लोगों ने इसपर पोस्ट करते हुए अपनी राय दी औऱ सवाल पूछा कि क्या अब CAA भी वापस लिया जाएगा.

इससे पहले किसान नेता राकेश टिकेट ने भी अपने पोस्ट में कहा था कि आंदोलन तत्काल वापस नहीं होगा, हम उस दिन का इंतजार करेंगे जब कृषि कानूनों को संसद में रद्द किया जाएगा । सरकार MSP के साथ-साथ किसानों के दूसरे मुद्दों पर भी बातचीत करें

Posted By: Sandeep Chourey