Twitter Layoffs: माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ट्विटर पर पूरा नियंत्रण हासिल करने के बाद से एलन मस्क एक्शन में हैं। ताजा खबर यह है कि एलन मस्क ने ट्विटर में छंटनी के आदेश दे दिए हैं। मैनेजरों को ऐसे कर्मचारियों की लिस्ट बनाने को कहा गया है, जिन्हें बाहर का रास्ता दिखाया जा सकता है। इससे पहले एलन मस्क ने कंपनी के भारतीय मूल के सीईओ पराग अग्रवाल समेत टॉप मैनेजमेंट की छुट्टी कर दी है। न्यूयॉर्क टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, मस्क ने शनिवार को ही ट्विटर से छंटनी शुरू करने की योजना बनाई है। हालांकि इसकी आशंका पहले से जताई जा रही थी।

न्यूयॉर्क टाइम्स की रिपोर्ट में स्थिति की जानकारी रखने वाले लोगों का हवाला देते हुए आगे लिखा गया है कि कुछ प्रबंधकों को कर्मचारियों की सूची तैयार करन' के लिए कहा जा रहा था। मस्क के ट्विटर के अधिग्रहण से पहले ही ऐसी खबरें चल रही थीं कि वह हेड काउंट में कटौती करेंगे। कुछ रिपोर्ट में कहा गया है कि कंपनी में 75 प्रतिशत कर्मचारियों की छंटनी की जा सकती है।

NYT की रिपोर्ट में कहा गया है कि ट्विटर पर छंटनी 1 नवंबर से पहले होगी। इसी समय कर्मचारियों के मुआवजे के रूप में स्टॉक अनुदान का हिसाब होगा और तत्काल भुगतान कर दिया जाएगा।

इस बीच एलन मस्क और उनकी टीम ने कंटेंट पॉलिसी पर भी काम शुरू कर दिया है। मस्क ने एक दिन पहले ही ट्वीट किया था कि ट्विट पर अब कॉमेडी करना गैरकानूनी नहीं है।

पराग अग्रवाल और विजया गड्डे के मिलेंगे 1000 करोड़ रुपए

एलन मस्क ने सबसे पहला निर्णय टॉप मैनेजमेंट की छुट्टी का लिया था। इसके तहत सीईओ पराग अग्रवाल के साथ ही कंपनी की नीति प्रमुख विजया गड्डे, ट्विटर सीएफओ नेड सहगल को बाहर कर दिया था। हालांकि अधिग्रहण की शर्तों के अनुसार इन लोगों को एलन मस्क द्वारा भारी भरकम राशि चुकाई जाएगी। जानकारी के मुताबिक, अकेले पराग अग्रवाल और विजया को कुल मिलाकर 1000 करोड़ रुपए मिलेंगे।

Posted By: Arvind Dubey

  • Font Size
  • Close