Twitter ने अमेरिका में 3 नवंबर को होने वाले राष्ट्रपति चुनाव के पहले भ्रामक ट्विट्स और झूठे दावों पर अंकुश लगाने के लिए विस्तृत योजना बनाई है। ट्विटर चुनाव या अन्य नागरिक प्रक्रिया में जनता के विश्वास को प्रभावित करने के उद्देश्य से दी जाने वाली गलत या भ्रामक जानकारी को 17 सितंबर से लेबल करेगा या हटाएगा।

इस माइक्रो-ब्लॉगिंग साइट ने ब्लॉग पोस्ट में कहा, हमारा लक्ष्य ऐसी सामग्री को रोकना है जो गलत और हानिकारक सूचना से चुनाव और अन्य नागरिक प्रक्रिया की अखंडता को प्रभावित कर सकती है। कानून और नियमों को लेकर लोगों के बीच भ्रम पैदा करने वाली गलत और भ्रामक जानकारी पर एक्शन ली जाएगी। यह चुनावी धांधली, मतपत्र छेड़छाड़, वोट मिलान और चुनाव परिणामों को लेकर इस प्रक्रिया में विश्वास कम करने वाले विवादित दावों को खत्म करेगा।

मौजूदा प्रवर्तन दृष्टिकोण के अनुरुप, इस विस्तारित नीति के तहत लेबल किए जाने वाले ट्विटस कम लोगों तक पहुंचेंगे। इस ट्विट्स की दृश्यता को कम करने का मतलब यह है कि हम उस ट्वीट को अपने की सतहों पर नहीं बढ़ाएंगे। इस खाते को फॉलो करने वाला शख्स उस ट्वीट और रिप्लाई को देख सकता है।

ट्विटर ने कहा, हम अपनी सेवा को नागरिक प्रक्रियाओं, सबसे महत्वपूर्ण चुनावों के आसपास दुर्व्यवहार की अनुमति नहीं देंगे। लोग चुनाव या अन्य नागरिक प्रक्रियाओं में हेरफेर या हस्तक्षेप करने के उद्देश्य से ट्विटर की सेवाओं का उपयोग नहीं कर सकते हैं।

किसी भी चुनाव की अखंडता के साथ छेड़छाड़ करने के प्रयासों को हमारे कड़े नियमों का सामना करना होगा। हमारे नियमों को सभी के लिए निष्पक्ष और विवेकपूर्ण तरीकों से लागू किया जाएगा।

Posted By: Kiran K Waikar

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020