वॉशिंगटन। Youtube पर फेक यानी फर्जी वीडियो बड़ी समस्या बन गए हैं। गूगल ने समय-समय पर कुछ कदम उठाए, लेकिन उम्मीद के मुताबिक परिणाम नहीं मिले। अब और अधिक भरोसेमंद कंटेंट की गारंटी के लिए Youtube अपने वेरीफिकेशन (सत्यापन) मापदंड में परिवर्तन करने जा रहा है। नई व्यवस्था अगले महीने से लागू होगी। जानिए इनके बारे में -

गूगल का कहना है कि इसके बाद Youtube के कई ऐसे चैनल व अकाउंट भी वेरिफाइड की श्रेणी में नहीं रहेंगे, जिन्हें हजारों लोग फॉलो करते हैं। उनके अकाउंट व चैनल के नाम के आगे लगा ब्लू टिक हट जाएगा। Youtube ने उन यूट्यूबर को नोटिस भी जारी कर दिया है, जिनके अकाउंट से टिक मार्क हटाया जाएगा।

अब ऐसे वेरिफाइड होंगे अकाउंट

  • वेरिफाइड होने के लिए अब कई मापदंडों पर खरा उतरना होगा। Youtube का कहना है कि उसने यह बदलाव इसीलिए किए हैं ताकि यूजर फर्जी चैनल व वीडियो की पहचान कर सकें।
  • अब प्राथमिकता उन प्रमुख चैनलों को सत्यापित करने की है, जिन्हें इसकी जरूरत है।
  • केवल उन चैनलों को ही सत्यापित किया जाएगा जो किसी वास्तविक कलाकार, जानी-मानी हस्ती या कंपनी के होंगे। इन सबकी Youtube के अलावा भी अन्य सोशल मीडिया पर उपस्थिति मजबूत होनी चाहिए।

झूठ को लोग मानने लगे सच

अभी यूट्यूब पर कई फर्जी वीडियो है, जिनको लाखों व्यूज भी मिल जाते हैं। कई बार तो लोग इनमें दी गई भ्रामक जानकारियों को सही मान लेते हैं। हाल ही में हुए एक शोध में सामने आया था कि Youtube पर देखे गए फर्जी वीडियो के चलते कई लोग धरती को गोल नहीं बल्कि चपटा मानते हैं। फर्जी चैनलों व फर्जी वीडियो से निपटने के लिए गूगल के मालिकाना हक वाली कंपनी पूर्व में कई ठोस कदम उठा चुकी है। कई चैनलों को बंद भी कर दिया गया था।

नए नियम पर भड़के यूट्यूबर

नियमों में इस बदलाव का कई यूट्यूबर ने विरोध किया है। सिएरा शल्तजी कहती हैं, 'मैं 5 साल से वीडियो बना और पोस्ट कर रही हूं। हर हफ्ते दो वीडियो अपलोड करती हूं और अब मेरे पास 9,50,000 फॉलोअर्स हैं। Youtube ने मुझे मेल कर बताया कि मेरा चैनल अब वेरीफाइड नहीं रहेगा। केवल वो चैनल ही ब्लू टिक के हकदार होंगे जिनके पास लाखों-करोड़ फॉलोअर हैं। यह तकलीफदेह है।'

बता दें कि सबसे पहले माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ट्विटर ने 2016 से अकाउंटों को सत्यापित करना शुरू किया था। फेसबुक के मालिकाना हक वाले इंस्टाग्राम ने 2018 से सत्यापित अकाउंटों को ब्लू टिक से चिन्हित करना शुरू किया था।

Posted By: Arvind Dubey

fantasy cricket
fantasy cricket