रायपुर नईदुनिया प्रतिनिधि।

हाई सिक्यूरिटी सिस्टम में रायपुर रेलवे स्टेशन के तब्दील होने के बाद मूलभूत सुविधाओं को यात्रियों की सहूलियत के हिसाब से खाका खींचा जाने लगा है। क्योंकि अभी तक प्रायोगिक रूप से पूरा सिस्टम चल रहा था। लेकिन अब नियमों के पालन कराने में कोई दिक्कत न आए इसलिए मुख्य गेट पर भीड़ के दबाव को कम करने के खातिर टिकट वेडिंग मशीनों के स्थान को बदला जाएगा। क्योंकि इसके इंट्री गेट के बगल में होने पर अधिक भीड़ लग जाती थी। ऐसे में अब इसे रेलवे स्टेशन के बुकिंग हॉल के टिकट काउंटर के पास भी रखे जाने की व्यवस्था होगी। इसके अलावा प्लेटफार्म टिकट काउंटर जो पूछताछ केंद्र के समीप था, उसे भी अनारक्षित टिकट काउंटर के समीप रखा जाएगा।

बता दें कि रायपुर मंडल से गुजरने वाली करीब 109 ट्रेनों से जाने और आने वालों की संख्या हर दिन 70 हजार तक है। पूर्व में रायपुर रेलवे स्टेशन में प्रवेश करने और निकलने के लिए कई प्वाइंट ऐसे थे, जहां से लोग मनमाने से तरीके से आना जाना कर रहे थे। लेकिन अब इंट्री और निकासी द्वार एक ही है। ऐसे में इंट्री गेट पर दबाव बढ़ना लाजमी है।

रेलवे स्टेशन के सर्कुलेटिंग एरिया में ट्रेनों का होगा एनाउंसमेंट

अभी तक रायपुर रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्मों पर ही ट्रेनों के आवाजाही का एनाउंसमेंट किया जा रहा है। ऐसे में ट्रेन की टाइमिंग जानने के लिए लोग स्टेशन के पूछताछ तक आते हैं। इससे भी भीड़ अधिक जुट जाती है। यहां भी भीड़ कम करने के लिए अब रेलवे स्टेशन के सर्कुलेटिंग एरिया में भी ट्रेनों के एनाउंसमेंट सुनाई देगा। ऐसे में लोग अपनी सुविधा के अनुसार ही प्लेटफार्म की ओर बढ़ेंगे।

अब सर्कुलेटिंग एरिया के इन प्वाइंटों पर लगेंगे साउंड बॉक्स

1-रायपर रेलवे स्टेशन के तीनों स्टैंड के पास

2-आरक्षित टिकट काउंटर के हाल में

3-आरपीएफ पोस्ट की आसपास की एरिया

4-पार्सल घर के आसपास एरिया

5-स्टेशन परिसर के प्रवेश द्वारा पर

वर्जन----

यात्री सुविधाओं के लिए बदलाव किए जा रहे हैं। ताकि आने वाले समय में भीड़ को नियंत्रित करने के साथ ही अन्य सुविधाएं दी जा सके। अभी पूरा खाका तैयार किया जा रहा है।

बीपीटी राव, डॉयरेक्टर रेलवे स्टेशन रायपुर

Posted By: Nai Dunia News Network