अमेरिका में इन दिनों कोरोना का खौफनाक कहर देखा जा रहा है। हालात बेकाबू हो गए हैं। कोरोना महामारी की दो लहरों का सामना करने वाले अमेरिका में गत तीन अगस्त से तकरीबन रोजाना एक लाख से ज्यादा नए संक्रमित मिल रहे हैं। संक्रमण की रोकथाम के लिए मास्क पहनने समेत तमाम उपायों पर फिर जोर दिया जा रहा है। दुनिया में कोरोना महामारी से सबसे ज्यादा प्रभावित अमेरिका में इस खतरनाक वायरस का कहर फिर बढ़ गया है। यहां की जेलों में भी महामारी बढ़ गई है। देशभर की जेलों में संक्रमण दर बढ़कर 34 फीसद हो गई है। अमेरिका में इस बार कोरोना के डेल्टा वैरिएंट के चलते संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है। मौजूदा दौर में अमेरिकी जेलों की स्थिति अच्छी नहीं है। कैदियों की संख्या क्षमता से ज्यादा है। शारीरिक दूरी के नियमों का अभाव है। ऐसे में इन जगहों पर कोरोना जैसी बीमारियों पर अंकुश लगाना बेहद कठिन काम है।

इजरायल : एपी के अनुसार, डेल्टा वैरिएंट से मुकाबले के लिए 40 वर्ष से ज्यादा उम्र वालों को वैक्सीन की बूस्टर डोज लगाने की मंजूरी दी गई है।

ब्रिटेन : आइएएनएस के मुताबिक, 24 घंटे में 36 हजार 572 नए केस पाए गए और 113 पीड़ितों की मौत हो गई। यहां भी डेल्टा वैरिएंट का कहर है।

आस्ट्रेलिया : एपी के अनुसार, डेल्टा के कहर से जूझ रहे देश के सबसे बड़े शहर सिडनी में लाकडाउन 30 सितंबर तक के लिए बढ़ा दिया गया है।

Posted By: Navodit Saktawat