Afghanistan Crisis: अफगानिस्तान की पंजशीर घाटी अभी भी तालिबान के लिए गले की हड्डी बनी हुई है। तालिबानी लड़ाके लगातार हमला कर रहे हैं, लेकिन नेशनल रेजिस्टेंस फोर्स इनका कड़ा मुकाबला कर रहा है। न्यूज एजेंसी रॉयटर्स के मुताबिक तालिबान ने लड़ाई के दौरान अफगानिस्तान के पूर्व उप-राष्ट्रपति अमरूल्ला सालेह के बड़े भाई रोहिल्ला सालेह की हत्या कर दी है। उनके भतीजे ने इसकी पुष्टि की। स्थानीय सूत्रों के मुताबिक तालिबान से लड़ाई के दौरान रोहिल्ला सालेह की बर्बरतापूर्वक हत्या की गई। वैसे पूर्व उपराष्ट्रपति अमरुल्लाह सालेह के बारे में बताया जा रहा कि वो ताजिकिस्तान में हैं।

स्थानीय मीडिया रिपोर्ट्स में यह दावा इसलिए किया जा रहा है क्योंकि तालिबान के एक लड़ाके की उसी जगह की एक तस्वीर सामने आई है, जहां से सालेह ने एक वीडियो साझा किया था। रिपोर्ट्स के मुताबिक तालिबान ने सालेह के घर पर कब्जा कर लिया है। हालांकि, अब तक तालिबान की ओर से भी अमरुल्ला सालेह के भाई रोहिल्ला सालेह की मौत को लेकर कोई पुष्टि नहीं की गई है।

आपको बता दें कि पिछले कुछ दिनों में तालिबान ने कई बार दावा किया कि उसने पंजशीर घाटी पर पूरी तरह कब्जा जमा लिया है। लेकिन हर बार उसके कई लड़ाकों को मारे जाने की खबर सामने आई। इनके खिलाफ लड़ रहा नेशनल रेसिस्टेंस फ्रंट कड़ी टक्कर दे रहा है। कुछ रिपोर्ट्स में ये भी दावा किया गया है कि तालिबान के खिलाफ विरोधी गुट के नेता अहमद मसूद और अमरूल्ला सालेह पंजशीर से ताजिकिस्तान भाग चुके हैं। हालांकि, अफगानिस्तान सरकार के ताजिकिस्तान में अपदस्थ राजदूत ने इस दावे को खारिज किया है।

Posted By: Shailendra Kumar