तेहरान । अमेरिका और उसके सहयोगी दोस्त इजराइल ने 22 साल बाद बदला लेकर एक अलकायदा सरगना को दुश्मन देश ईरान में घुसकर मार गिराया है। मिली जानकारी के मुताबिक अमेरिका में वर्ष 1998 में केन्या और तंजानिया के अमेरिकी दूतावासों पर आतंकी संगठन अलकायदा ने भयावह हमले किए थे, जिसमें कई लोग मारे गए थे। तब अलकायदा सरगना ओसामा बिन लादेन ने इन दूतावसों पर आतंकी हमले की जिम्मेदारी ली थी। तभी से अलकायदा को नंबर दो का सरगना अबू मोहम्मद अल मस्त्री ईरान में छुपकर बैठा था। अमेरिका और इजराइन की खुफिया एजेंसी मोसाद के जवान लगातार ईरान में अबू मोहम्मद मस्त्री की गतिविधियों पर नजर रख रहे थे। आखिरकार इजराइली जवानों ने अलकायदा के सरगना अबू मोहम्मद अल मस्त्री को इस हमले की वर्षगांठ पर ही मार गिराया।

दूतावास पर आतंकी हमलों में मारे गए थे 224 लोग

गौरतलब है कि केन्या और तंजानिया में अमेरिकी दूतावासों पर अलकायदा के आतंकी हमलों में 1998 में 224 लोग मारे गए थे। ऐसा माना जाता है कि ओसामा बिन लादेन के इशारे में अबू मोहम्मद ने ही इन हमलों की साजिश रची थी। इस हमले का मास्टरमाइंड अबू मोहम्मद मस्त्री ही था। न्‍यूयॉर्क टाइम्‍स की रिपोर्ट के मुताबिक अबू मोहम्‍मद ऊर्फ अब्‍दुल्‍ला अहमद अब्‍दुल्‍ला को उसकी बेटी के साथ गत 7 अगस्‍त को तेहरान की सड़कों पर गोली मार खत्म कर दिया गया। अमेरिका के बदले को उसके सहयोगी देश इजरायल की खुफिया एजेंसी मोसाद के सीक्रेट दस्‍ते ने पूरा किया है।

अबू मोहम्मद पर था एक करोड़ डॉलर का इनाम

गौरतलब है कि अबू मोहम्‍मद के मारे जाने की अहमियत इस बात से समझी जा सकती है कि अमेरिकी जांच एजेंसी एफबीआई ने उस पर एक करोड़ डॉलर का इनाम घोषित किया था। न्‍यूयॉर्क टाइम्‍स ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि अबू मोहम्‍मद की हत्‍या अभी तक रहस्य थी। रोचक बात यह है कि ईरान के सरकारी मीडिया ने इस घटना के बारे में बताया कि मारा गया व्यक्ति हबीब दाउद और उसकी 27 साल की बेटी मरियम थी। ईरानी मीडिया का दावा है कि मारा गया व्यक्ति हबीब दाउद लेबनान का इतिहास का प्रोफेसर था। न्‍यूयॉर्क टाइम्‍स का कहना है कि कि अब ईरान फर्जी नाम का इस्‍तेमाल कर रहा है।

लादेन के बेटे से हुई थी अबू मोहम्मद की बेटी की शादी

न्यूयार्क टाइम्स के मुताबिक अलकायदा आतंकी अबू मोहम्मद 7 अगस्‍त को अपनी कार से रात को 9 बजे बाहर जा रहा था। इस दौरान दो बंदूकधारियों ने उसकी कार रुकवाई और अबू मोहम्‍मद और उसकी बेटी को गोली मार दी। गौरतलब है कि मरियम की शादी ओसामा बिना लादेन के बेटे हमजा बिन लादेन से हुई थी। हमजा पहले ही एक हमले में मारा जा चुका है। हमलावरों ने साइलेंसर लगी बंदूक का इस्‍तेमाल किया, जिससे किसी को हमले का अहसास नहीं हुआ।अलकायदा ने भी अभी अबू मोहम्‍मद की मौत की पुष्टि नहीं की है।

Posted By: Sandeep Chourey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

Republic Day
Republic Day