वॉशिंगटन। अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप 24 फरवरी को दो दिवसीय दौरे पर भारत आ रहे हैं। इस दौरान वह दुनिया में सबसे सुरक्षित मानी जाने वाली अपनी 'द बीस्ट' (The Beast) कार में सफर करेंगे। वैसे तो उनकी कार अपने आप में किसी अभेद किले से कम नहीं है, लेकिन उनके काफिले में कई अन्य कारें भी चलती हैं। उन सभी कारों की अपनी खासियतें हैं और अमेरिकी राष्ट्रपति की सुरक्षा को इन कारों के जरिये चाक-चौबंद किया जाता है। जानते हैं राष्ट्रपति के काफिले में मौजूद कारों के बारे में...

हजमत

इस काले ट्रक में सेंसर्स लगे होते हैं, जो किसी भी तरह के हथियारबंद हमले फिर चाहें वह न्यूक्लियर हो, केमिकल हो या बायोलॉजिकल हो, उसका पता लगा सकता है और उसका जवाब दे सकता है।

रोडरनर

इस एसयूवी में बड़ा सैटेलाइट कम्युनिकेशन ऐरे लगा होता है, जो राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और व्हाइट हाउस के अधिकारियों को इनक्रिप्टेड वॉइस, इंटरनेट और वीडियो कम्युनिकेशन के जरिये सुरक्षित तरीके से जोड़े रखने के काम आता है।

वॉचटावर

इसमें वर्टिकल एंटीना और स्पेशल डोम्स लगे होते हैं। यह किसी भी तरह के कम्युनिकेशन को जैम कर सकता है या दूर से ही डिवाइस को उड़ा सकता है। यह प्रोजेक्टाइल या अनमैन्ड एयर विहिकल्स (UAV) का पता लगा सकता है।

सपोर्ट विहिकल

इसमें प्रेसिडेंट के डॉक्टर, कैबिनेट के सदस्य, शीर्ष सैन्य अधिकारी और उनकी सिक्योरिटी डिटेल व अन्य अतिरिक्त सुरक्षा कर्मचारी मौजूद रहते हैं।

कैट

इस बड़ी सी काले रंग की एसयूवी में पुलिस लाइट्स लगी होती हैं और उसका पिछला दरवाजा हमेशा खुला रहता है। इसमें हथियारबंद कमांडो पीछे की तरफ लटके रहते हैं, ताकि किसी हमले की स्थिति में वे तुरंत और सबसे पहले प्रतिक्रिया दे सकें। उनकी असॉल्ट राइफल हमेशा तैयार रहती हैं।

हाफबैक

यह राष्ट्रपति की कार के ठीक पीछे चलती है और इसमें सीक्रेट सर्विस की प्रोटेक्टिव डिटेल्स होती हैं।

Posted By: Shashank Shekhar Bajpai