SriLanka Crisis: पड़ोसी देश श्रीलंका में प्रधानमंत्री महिंदा राजपक्षे के इस्तीफे के बाद स्थिति और बिगड़ गई है, और देश भर में हिंसा शुरू हो गई है। राजधानी कोलंबो में सोमवार को हुई हिंसक झड़प (Violent Clash) में सत्ताधारी पार्टी के एक सांसद समेत 3 लोगों की मौत हो चुकी है और 150 से अधिक लोगों के घायल होने की खबर है। दरअसल, राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे द्वारा दूसरी बार आपातकाल लागू किए जाने के बाद देश के कई हिस्सों में विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं। सोमवार को राष्ट्रपति भवन के बाहर कैंप लगा कर शांतिपूर्ण प्रदर्शन कर रहे लोगों पर सरकार समर्थक हमलावरों ने डंडों और लकड़ियों से हमला किया और उन्हें जमकर मारा। राष्ट्रपति भवन के बाहर हो रहे दंगे को शांत कराने श्रीलंका की पार्लियामेंट्री पुलिस को पहुंचना पड़ा। हिंसक झड़प रोकने के लिए पुलिस ने आंसूगैस के गोले दागे और पानी बरसाया। इस झड़प में 150 से अधिक लोगों के घायल होने की खबर है।

लेकिन इस हिंसक झड़प ने सरकार के खिलाफ लोगों को गुस्से को और भड़का दिया। अब देश भर में हिंसा की खबरें आ रही हैं। प्रदर्शनकारी एक-एक कर सत्ताधारी नेताओं और सांसदों के घर जला रहे हैं। जानकारी के मुताबिक प्रदर्शनकारियों ने कोलंबो के मोरातुवा इलाके में मेयर समन लाल फर्नांडो के घर में भी आग लगा दी। समन लाल फर्नांडो महिंद्रा राजपक्षे के समर्थक माने जाते हैं। भीड़ ने श्रीलंकाई सांसद अरुंडिका फर्नांडो के कोच्चिकड़े स्थित घर में भी आग लगा दी। प्रदर्शनकारी भीड़ अब सरकारी संपत्ति को भी नुकसान पहुंचा रही है। भीड़ ने हंबनटोटा में डीआर राजपक्षे के स्मारक को भी गिरा दिया है। पुलिस ने मुताबिक कुरुनेगला शहर में महिंद्रा राजपक्षे के एक और वफादार जॉनस्टन फर्नांडो के दफ्तर और घर में भी आगजनी की गई है। इस आगजनी में दर्जनभर से ज्यादा गाड़ियों को भी फूंक दिया गया है।

सांसद ने की खुदकुशी

श्रीलंका में भड़की हिंसा के दौरान सत्ताधारी पार्टी के एक सांसद ने पहले प्रदर्शनकारियों को गोली मारी, फिर खुद को गोली मारकर खुदकुशी कर ली। पुलिस के मुताबिक निट्टंबुवा शहर के बाहर प्रदर्शनकारियों ने सांसद अमरकीर्ति अथुकोरला की गाड़ी को रोकने की कोशिश की। इस दौरान अमरकीर्ति अथुकोरला ने प्रदर्शनकारियों पर गोली चला दी। दो लोगों को गोलियां लगी, जिनमें से एक ने बाद में दम तोड़ दिया। इसके बाद प्रदर्शनकारियों ने सांसद अमरकीर्ति अथुकोरला को घेर लिया, जिसके बाद उन्होंने खुद को गोली मारकर खुदकुशी कर ली।

ऐहतियात बरत रही है सरकार

सियासी उथल-पुथल के बीच कोलंबो में सेना तैनात की गई और देश भर में कर्फ्यू लगा दिया है। इन हालात को देखते हुए श्रीलंकाई एयरलाइंस ने सोमवार को यात्रियों से अनुरोध किया कि वे भंडारनाइके अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डा (BIA) पहुंचने के लिये जांच चौकियों पर अपनी हवाई टिकट और पासपोर्ट दिखाएं। आपको बता दें कि श्रीलंका अपनी आज़ादी के बाद सबसे बड़े आर्थिक और राजनीतिक संकट से गुजर रहा है।

Posted By: Shailendra Kumar