Apple और Google ने बुधवार को सॉफ्टवेयर लॉन्च किया, जो दुनियाभर के सार्वजनिक स्वास्थ्य अधिकारियों को मोबाइल एप्लिकेशन बनाने की अनुमति देगा, जो लोगों को सूचित करेगा कि कब वे किसी ऐसे व्यक्ति के संपर्क में आए हैं, जिसे कोरोना वायरस से संक्रमित होना पाया गया है। दोनों तकनीकी दिग्गज कंपनियों ने इसे "एक्सपोजर नोटिफिकेशन" टूल का नाम दिया है और यह स्मार्टफोन के भीतर ब्लूटूथ रेडियो का उपयोग करता है।

एक नए सॉफ्टवेयर अपडेट का हिस्सा होगा, जो कंपनियां बुधवार से जारी करेंगी। राज्य और संघीय सरकारें कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग ऐप बनाने के लिए इसका उपयोग कर सकती हैं, जिन्हें नागरिक ऐप्पल के ऐप स्टोर या Google Play स्टोर के माध्यम से डाउनलोड कर सकते हैं। जिन लोगों ने नवीनतम सॉफ्टवेयर के साथ अपने फोन को अपडेट किया है, वे अपने ब्लूटूथ सिग्नल को शेयर कर सकेंगे। रेडियो सिग्नल उन अन्य लोगों की पहचान करता है, जिन्होंने एक ऐप डाउनलोड किया है और जो इस सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल करते हैं।

Apple और Google ने कहा कि कुछ अमेरिकी राज्यों और 22 देशों में सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल किया जाएगा, लेकिन कंपनियों ने इसका उपयोग करने वाली सभी सरकारी एजेंसियों की सूची देने से इनकार कर दिया। तीन अमेरिकी राज्यों में अधिकारियों से दोनों कंपनियों के सॉफ्टवेयर का समर्थन किया। इसमें नॉर्थ डकोटा के गवर्नर डग बर्गम भी शामिल हैं। उन्होंने कहा कि नॉर्थ डकोटा हमारे नागरिकों को सुरक्षित रखने में मदद करने के लिए Apple और Google द्वारा निर्मित एक्सपोजर नोटिफिकेशन टेक्नोलॉजी का उपयोग करने के लिए देश के पहले राज्यों में से एक है।

सॉफ्टवेयर की हाल ही में आलोचना की गई थी क्योंकि कुछ सार्वजनिक स्वास्थ्य अधिकारियों का कहना है कि यह उनके लिए आवश्यक डेटा मुहैया नहीं करता है, ताकि वे अपने स्वयं के संपर्क ट्रेसिंग प्रयासों में सुधार कर सकें।

Posted By: Shashank Shekhar Bajpai

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना