इस्लामाबाद। आर्थिक रूप से खस्ताहाल पाकिस्तान के हालत भारत से कारोबारी रिश्ते तोड़ने से और ज्यादा खराब हो गए हैं। जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 पर भारत के फैसले से बौखलाए पाकिस्तान ने ऐसा कदम उठाया है।

अब इस बात की आशंका जताई जा रही है कि इसका खामियाजा पाकिस्तानियों को भुगतना पड़ सकता है। पहले से ही महंगाई से जूझ रहे लोगों के आर्थिक हालत और खराब हो सकते है। साथ ही खाद्य पदार्थों के दाम आसमान पर पहुंच सकते हैं। पाक के इस फैसले से बकरीद की खुशियां फीकी हो सकती हैं। पाकिस्तानी कारोबारियों और आम नागरिकों का कहना है कि बढ़ती महंगाई के चलते पहले ही कारोबार और घरों का बजट बिगड़ा हुआ है। अब भारतीय खाद्य पदार्थों के आयात पर रोक लगने से मुश्किलों मे और इजाफा हो रहा हैं। इससे बकरीद का त्योहार भी अछूता नहीं रह पाएगा।

लोगों के लिए त्योहार मनाना मुश्किल होता जा रहा है। नजमा नाम की एक गृहिणी ने कहा कि बढ़ती महंगाई से रसोई का बजट गड़बड़ा गया है। आमदनी में कोई खास बढ़ोतरी नहीं हुई, लेकिन दूध से लेकर सब्जियां और मीट तक सब कुछ महंगा हो गया है। अब भारत के साथ कारोबार रोकने से सभी चीजों के दाम फिर बढ़ जाएंगे। प्याज का कारोबार करने वाले इफ्तिखार ने कहा कि बकरीद में सिर्फ कुछ दिन बचे हैं, लेकिन बाजार में वीराना छाया हुआ है। हम सब्जियों और प्याज के लिए भारत पर निर्भर हैं। बकरीद पर ये जरूरी हैं। मुझे पूरा यकीन है कि प्याज और सभी चीजों की कीमतें और बढ़ जाएंगी। इमरान खान क्या चाहते हैं, हम क्या खाएं?

अशफाक नामक एक बैंकर ने कहा कि यकीनन इस बार बकरीद काफी फीकी होने जा रही है। इसके बार शुरू होने वाले शादियों के सीजन पर भी भारत के साथ कारोबारी संबंध तोड़ने का खासा असर पड़ेगा। मुझे यह समझ नहीं आ रहा है कि सरकार क्या सोचकर भारत के साथ कारोबारी संबंध तोड़कर अपनी अर्थव्यवस्था को नुकसान पहुंचा रही है?

Posted By: Yogendra Sharma

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

Independence Day
Independence Day