जकार्ता। इंडोनेशिया में चार मीटर लंबे मगरमच्छ के गले में कई सालों से फंसे टायर को निकालने की चुनौती ऑस्ट्रेलिया के एक टीवी होस्ट ने स्वीकार कर ली है। गले में टायर फंसा होने की वजह से मगरमच्छ न तो खाना खा पा रहा है और न ही सांस ले पा रहा है। वह धीरे-धीरे मौत की तरफ बढ़ रहा है। लिहाजा, अधिकारी ने इस मगरमच्छ की जान बचाने वाले को इनाम देने की घोषणा की है। इस बीच नेशनल ज्योग्राफिक के 'मॉन्स्टर क्रोक रैंगलर' शो के होस्ट मैट राइट ने कहा है कि वह यह कोशिश करना चाहेंगे।

इसके बाद वह गुरुवार को सुलावेसी द्वीप पर एक टीम के साथ पहुंच गए, जहां उन्होंने विशाल मगरमच्छ को फंसाने के लिए चारे के रूप में बतख का इस्तेमाल किया। वह ड्रोन से पूरे मामले में नजर रख रहे थे। उन्होंने सरीसृप को फंसाने के लिए एक जाल का इस्तेमाल भी किया था और वह एक हारपून लेकर भी साथ गए थे। क्रोक रैंगलर ने गुरुवार को पालू शहर में पत्रकारों को बताया कि यह हारपून मगरमच्छ को नुकसान नहीं पहुंचाता है। यह बस थोड़ा सा अंदर जाता है, जो कान छिदवाने जैसा है।

राइट ने इंस्टाग्राम पर दो लाख से अधिक अनुयायियों को बताया कि टीम ने बुधवार को मगरमच्छ को फंसाने की मुख्य योजना से पहले एक ट्रेनिंग के तौर पर एक छोटे से मगरमच्छ को फंसा लिया था। उन्होंने कहा कि मुसीबत में फंसे उस मगरमच्छ को पकड़ना हालांकि थोड़ा मुश्किल होगा क्योंकि वहां का माहौल बड़ा कठिन है और दूसरा नदीं में खाने की पर्याप्त उपलब्धता होने की वजह से वह भूखा भी नहीं होगा कि चारे को देखकर दौड़ता चला आए। हालांकि, राइट ने उम्मीद जताई कि वह दो दिनों में उस मगरमच्छ को जाल में फंसाकर पकड़ लेंगे।

राइट के साथी ऑस्ट्रेलियाई क्रोकोडाइल वैंगलर क्रिस विल्सन भी स्थानीय अधिकारियों के साथ मिलकर सालों से गले में फंसे टायर के साथ संघर्ष कर रहे मगरमच्छ को बचाने की जद्दोजेहद में लगे हैं। बताते चलें कि पिछले महीने जब मगर के गले से टायर निकालने वाले को अधिकारियों ने इनाम देने की घोषणा की थी, तो यह मामला पूरी दुनिया की नजर में आ गया था। इनाम की राशि की घोषणा नहीं की गई थी, लेकिन यह चाहें जितनी भी हो, उसकी तुलना में यह बहुत जोखिमभरा काम है। कारण, खारे पानी का यह मगरमच्छ 13 फुट (करीब 4 मीटर) लंबा है, जो टायर से छूटने के बाद उसे निकालने वाले पर हमला कर सकता है।

Posted By: Shashank Shekhar Bajpai

fantasy cricket
fantasy cricket