बीजिंग। चीन ने रविवार को स्वीकार किया कि कोरोना वायरस महामारी की वजह से उसके बहु-अरब डॉलर के बेल्ट एंड रोड इनिशिएटिव (बीआरआई) प्रभावित हुआ है। मगर, कहा कि यह प्रभाव अस्थायी और सीमित है। चीन के विदेश मंत्री वांग यी ने कहा कि कुल मिलाकर दीर्घकालिक दृष्टिकोण से कोरोना वायरस बीआरआई सहयोग और नई संभावनाओं को खोलने और मजबूत बनाने का काम करेंगे।

उन्होंने कहा कि पूरी दुनिया में COVID-19 के मद्देनजर सार्वजनिक स्वास्थ्य विस्तार की मांग परियोजना विस्तार को एक नई गति प्रदान करेगी। वांग यी ने बीआरआई पर कोरोना वायरस के प्रभाव पर एक सवाल का जवाब देते हुए मीडिया से कहा- वास्तव में Covid​​-19 ने कुछ हद तक बेल्ट और रोड सहयोग को प्रभावित किया है, लेकिन यह प्रभाव अस्थायी और सीमित है।

BRI द्वारा की गई प्रगति को रेखांकित करते हुए वांग यी ने कहा कि पिछले सात वर्षों में चीन ने 138 देशों के साथ BRI सहयोग दस्तावेजों पर हस्ताक्षर किए हैं। इसकी वजह से 2,000 से अधिक परियोजनाएं शुरू की गई हैं और भागीदार देशों में हजारों रोजगार के अवसर पैदा हुए हैं। इसी अवधि के दौरान BRI साझेदार देशों के साथ चीन का व्यापारिक माल 7.8 ट्रिलियन डॉलर से अधिक हो गया है, जबकि प्रत्यक्ष चीनी निवेश 110 बिलियन डॉलर से ऊपर है।

बताते चलें कि BRI को राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने 2013 में सत्ता में आने के बाद लॉन्च किया था। इसका उद्देश्य दक्षिण पूर्व एशिया, मध्य एशिया, खाड़ी क्षेत्र, अफ्रीका और यूरोप को भूमि और समुद्री मार्गों के नेटवर्क से जोड़ना है। बताते चलें कि ट्रंप प्रशासन बीआरआई परियोजना के लिए अत्यंत आलोचक रहा है, जिसमें 60 अरब डॉलर का चीन-पाकिस्तान आर्थिक गलियारा (CPEC) एक प्रमुख परियोजना है।

Posted By: Shashank Shekhar Bajpai

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना