Russia-Ukraine War: रूस-यूक्रेन युद्ध को लेकर अब पूरा विश्व समुदाय चिंतित है और इसे खत्म करने की दिशा में कोशिशें हो रही हैं। इसी क्रम में अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने बड़ा बयान देते हुए कहा कि वो रुसी राष्ट्रपति से बातचीत करने को तैयार हैं, अगर रुस इस युद्ध को खत्म करने के उपायों की तलाश कर रहा हो। इसे अमेरिकी नीति में बड़े परिवर्तन के तौर पर देखा जा रहा है। दरअसल सर्दियां बढ़ने के साथ रही पूरे यूरोप और यूक्रेन की स्थिति गंभीर होनेवाली है। इसकी वजह ये है कि यूरोप की जमाने वाली ठंड से बचाने के लिए रुसी गैस की सप्लाई जरुरी है। वहीं अमेरिकी बाजार में मंदी का दौर आने की आहट महसूस की जा रही है। ऐसे में सभी इस युद्ध को जल्द से जल्द खत्म करना चाहते हैं। लेकिन ये इस बात पर निर्भर करता है कि रुसी राष्ट्रपति पुतिन क्या चाहते हैं।

इससे पहले अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन और फ्रांसीसी राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने एक संयुक्त बयान में यूक्रेन में रूसी हमले की निंदा की । व्हाइट हाउस में गुरुवार को वार्ता के दौरान इन दोनों नेताओं ने यूक्रेन में किए गए युद्ध अपराध के लिए रूस को जवाबदेह ठहराने का संकल्प लिया। व्हाइट हाउस में दोनों नेताओं की हुई बैठक के बाद जारी एक बयान में यह जानकारी दी गई।

यूक्रेन पर रूसी हमला जारी

उधर, खेरसॉन पर रूसी गोलाबारी जारी है। इसकी वजह से यूक्रेनी शहर खेरसॉन के अधिकांश हिस्सों में विद्युत आपूर्ति फिर से बाधित हो गई। दरअसल मॉस्को ने ठंड के मौसम में बिजली-पानी जैसे बुनियादी ढांचों को नष्ट करने के लिए हमले तेज कर दिए हैं। कीव के मेयर ने राजधानी के लाखों निवासियों से कहा कि उन्हें सर्दियों के लिए पानी और भोजन का भंडार रखना चाहिए, क्योंकि बुनियादी ढांचों को नुकसान होने पर आपूर्ति बाधित होने की आशंका है। उन्होंने लोगों से ये भी आग्रह किया कि यदि संभव हो तो वे शहर छोड़कर अपने मित्रों या परिवार के अन्य सदस्यों के पास जाने पर विचार करें।

Posted By: Shailendra Kumar

  • Font Size
  • Close