काठमांडू। नेपाल में ग्रामीणों ने एक महिला को डायन करार देते हुए न सिर्फ उसकी पिटाई की बल्कि मल खाने के लिए मजबूर किया। पुलिस अधिकारियों ने सोमवार को बताया कि मामला माहोतारी जिले के भांगहा क्षेत्र का है। यहां रविवार को पांच महिलाओं ने मिलकर 35 वर्षीय पीड़िता पर चुडैल होने का आरोप लगाते हुए उसकी पिटाई कर दी थी।

आरोपी महिलाओं की पहचान सबिता देवी, पोशिला दानुवार, इंद्रा देवी सिंह दानुवार, सुकेश्वरी देवी और राजेश्री अनुवार के रूप में की गई है। यह जानकारी एसपी श्याम कृष्ण अधिकारी ने दी। सुकेश्वरी और राजेश्री को पुलिस हिरासत में ले लिया गया है। इसके साथ ही पुलिस की जांच शुरू कर दी गई है।

महिलाओं पर डायन होने का आरोप लगाने और उनके साथ मारपीट करने या उन्हें जान से मार डालने की प्रथा अभी भी नेपाल के कुछ हिस्सों में आम है। हालांकि, यह गैरकानूनी है। इसके साथ ही नेपाल में कई और भी कुप्रथाएं प्रचलित हैं, जिनका सबसे ज्यादा नुकसान महिलाओं को ही उठाना पड़ता है।

इसी तरह की एक और कुप्रथा है कि मासिक धर्म के दौरान महिलाओं को अलग झोपड़ी में रहने के लिए मजबूर किया जाता है। ठंड के दिनों में झोपड़ी को गर्म रखने के लिए जलाए गए अलाव के धुंए से कई बार महिलाओं की मौत के मामले सामने आ चुके हैं।