टोक्यो। जापान के एक कैशियर ने अपनी जबरदस्त याददाश्त का इस्तेमाल ग्राहकों को चपत लगाने में की। उसके बारे में पुलिस ने बताया कि वह जिस चीज को देख लेता था वह उसके दिमाग में छप जाती थी। अपनी इस फोटोग्राफिक मेमोरी का इस्तेमाल कर उस कैशियर ने 1,300 ग्राहकों से क्रेडिट कार्ड की जानकारी चुरा ली। पुलिस ने बताया कि 34 वर्षीय युसुके तानिगुची को गिरफ्तार कर लिया गया है।

जांच में पता चला था कि उसने चोरी की गई जानकारी का इस्तेमाल करके मार्च में करीब 2,600 डॉलर के बैग खरीदे थे। पुलिस ने उसके ऑर्डर को इंटरसेप्ट किया और कथित चोर को पकड़ने के लिए खुद तनुगुची के बैग डिलीवर करने पहुंची थी। मामले की जांच में शामिल एक अधिकारी ने बताया कि तनुगुची की फोटोग्राफिक मेमोरी है, यानी वह जिस चीज को एक बार देख लेता है, वह उसे लंबे समय तक याद रहती है।

पुलिस का कहना है कि पार्ट-टाइम कैशियर ने अपने सामान को खरीदने के लिए कम समय में ग्राहक क्रेडिट कार्ड की जानकारी को याद रखा। पुलिस ने कहा कि वह सभी डिटेल्स को याद रखता था और बाद में उन्हें लिख लेता था। उन जानकारियों का इस्तेमाल वह बाद में ऑनलाइन शॉपिंग करने के लिए करता था। फिलहाल पुलिस उसके द्वारा अंजाम दिए गए अन्य अपराधों की जांच कर रही है।

यूनियन कॉलेज में मनोविज्ञान के प्रोफेसर डैनियल बर्न्स के अनुसार विज्ञान वास्तव में फोटोग्राफिक मेमोरी के दावों पर यकीन नहीं करता है। वैज्ञानिकों को फोटोग्राफिक मेमोरी के प्रमाण नहीं मिले हैं। मगर, बहुत अच्छी याददाश्त वाले लोग होते हैं, जो आश्चर्यजनक रूप से विस्तार के साथ कोई भी जानकारी याद रख सकते हैं।

Posted By: Shashank Shekhar Bajpai