China-Taiwan Conflict: ताइवान में अमेरिकी संसद की स्पीकर की यात्रा से भड़के चीन ने उसे चारों तरफ से घेर लिया है। चीन ने मिसाइल, 14 युद्धपोत, 66 फाइटर जेट्स के बाद ड्रोन्स को भी उतार दिया है। ये ड्रोन्स जापान के नजदीक से उड़ते हुए ताइवान की ओर आए हैं। इस बीच ताइवान की राष्ट्रपति साई इंग वेन ने अंतरराष्ट्रीय समर्थन की अपील की है। वेन ने कहा, देश की सरकार और सेना स्थिति पर करीब से नजर रखे हुए है।

चीन ने किया हमले का अभ्यास

ताइवान के रक्षामंत्रालय ने कहा कि चीन के युद्धपोतों, लड़ाकू विमानों और ड्रोन ने चार दिन हमले का अभ्यास किया। इस दौरान ताइवान के लड़ाकू विमानों और युद्धपोतों ने इस अभ्यास का जवाब दिया। चीनी मीडिया के अनुसार यह एक ऐतिहासिक अभ्यास था। चार दिनों के सैन्य अभ्यास में चीन सेना की कोशिश रही कि वह ताइवान स्ट्रेट के मध्य की आभासी मीडियन लाइन पार करे।

चीन जहां अपने अत्याधुनिक हथियारों के जरिए ताकत दिखाने की कोशिश कर रहा था। वहीं ताइवान की सेना एंटी शिप मिसाइलों और सतह से हवा मार करने वाले पैट्रियट मिसाइल डिफेंस सिस्टम के साथ तैयार थी।

ताइवान ने उड़ान पर लगा प्रतिबंध हटाया

शिन्हुआ समाचार एजेंसी के अनुसार गुरुवार को शुरू हुआ सैन्य अभ्यास रविवार को पूरा होना था, लेकिन चीन ने औपचारिक घोषणा नहीं की है। ताइवान ने कहा, 'चीन का सैन्य अभ्यास पूरा हो गया है। इसकी वह पुष्टि नहीं कर सकता है।' ताइवान के यातायात संबंधी मंत्रालय ने यात्री विमानों की उड़ान पर लगा बैन हटा दिया है। चीन के सैन्य अभ्यास को देखते हुए ताइवान ने अपने हवाई क्षेत्र में यात्री विमान रोक दिए थे।

Posted By: Shailendra Kumar

  • Font Size
  • Close