भारत और चीन के बीच लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (Line of Actual Contral) पर तनाव बरकरार है। चीन LAC पर अपनी सेना का जमावड़ा लगा रहा है, इस बीच चीन को जवाब देने के लिए भारत ने भी सीमा पर आधुनिक हथियारों को तैनात कर दिया है। इस बीच सोमवार शाम को भारत सरकार ने सुरक्षा के मद्देनजर चीन के 59 ऐप को ब्लॉक कर दिया है। इसमें टिकटॉक, हैलो, शेयरइट जैसे एप्लीकेशन भी शामिल हैं। भारत के इस कदम के बाद चीन भी बैकफुट पर आता दिखाई दे रहा है। चीनी विदेश मंत्रालय का भारत के इस कदम को लेकर बयान सामने आया है। चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता Zhao Lijian ने कहा है कि चीन इसे लेकर बेहद चिंतित है, वह हालातों का जायजा ले रहा है।

चीनी विदेश मंत्रालय का ये है बयान

चीनी विदेश मंत्रालय की ओर से जारी हुए बयान में कहा गया है कि 'हम इस बात पर जोर देना चाहते हैं कि चीनी सरकार हमेशा चीनी बिजनेस को अंतरराष्ट्रीय और स्थानीय लॉ रेग्यूलेशन का पालन करने का कहती है। भारत सरकार की जिम्मेदारी है कि वह अंतरराष्ट्रीय निवेशकों के कानूनी अधिकारों को सुरक्षित रखे। इसमें चीन भी एक है।'

LAC पर चीन ने बढ़ाया तनाव

भारत और चीन के बीच तनाव उस वक्त बढ़ गया था जब चीन ने LAC के समझौते का उल्लंघन करते हुए भारतीय सीमा में घुसपैठ की कोशिश की थी। इसके बाद यह तनाव 15 जून को चीनी सैनिकों के धोखे से भारतीय जवानों पर किए गए हमले के बाद चरम पर पहुंच गया है।

चीन की धोखेबाजी से नाराज देश की जनता ने चीनी सामान के बहिष्कार की मुहिम भी चला दी है। वहीं दूसरी ओर सरकार द्वारा भी चीनी कंपनियों के कई कांट्रेक्ट को रद्द कर दिया गया है।

Posted By: Neeraj Vyas

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना