विश्‍व में एक बार फिर से कोरोना महामारी का बड़ा खतरा मंडरा रहा है। कई देशों में कोरोना का कहर टूटा है।अमेरिका में तो कोरोना कहर बनकर टूटा है और पिछले 24 घंटे में वहां करीब साढ़े चार लाख नए मामले पाए गए हैं। इसे लेकर विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने एक बार फिर चेताया है। संयुक्त राष्ट्र की स्वास्थ्य एजेंसी ने मंगलवार को जारी अपनी साप्ताहिक महामारी संबंधी रिपोर्ट में कहा कि 20 से 26 दिसंबर के बीच दुनियाभर में करीब 50 लाख नए मामले सामने आए। इनमें से आधे से अधिक मामले यूरोप में आए जिनकी संख्या 28.4 लाख थी। हालांकि यूरोप के मामलों में एक सप्ताह से पहले की तुलना में केवल तीन प्रतिशत वृद्धि दर्ज की गई है। महामारी के फिर से गंभीर होने का संकेत देते हुए संगठन ने कहा कि दुनिया भर में पिछले हफ्ते कोरोना के मामलों में उससे पहले के हफ्ते की तुलना में 11 प्रतिशत की वृद्धि हुई है।

अमेरिका महाद्वीप के देशों में सबसे अधिक बढ़ोतरी देखी गई है। फ्रांस में भी कोरोना के रिकार्ड 2.08 लाख नए मामले सामने आए हैं। महामारी की शुरुआत के बाद से फ्रांस में एक दिन में इतने ज्यादा मामले कभी नहीं मिले थे। इससे पहले मंगलवार को ही फ्रांस में सर्वाधिक 1.80 लाख मामले सामने आए थे। आस्ट्रेलिया में ओमिक्रोन वैरिएंट का विस्फोट देखने को मिल रहा है। पूरे आस्ट्रेलिया में संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। इसको देखते हुए प्रधानमंत्री स्काट मारीसन को कैबिनेट की आपात बैठक बुलानी पड़ी है। सिडनी और न्यू साउथ वेल्स में सबसे ज्यादा 11,000 से अधिक केस मिले हैं।

तबाह हो सकती है स्वास्थ्य व्यवस्था

डब्ल्यूएचओ ने ओमिक्रोन को एक बार फिर बड़ा खतरा बताते हुए कहा है कि इससे वैश्विक स्वास्थ्य व्यवस्था तबाह हो सकती है। उसके मुताबिक ओमिक्रोन से संबंधित जोखिम बहुत ज्यादा बना हुआ है। तेज प्रसार के मामले में इसने डेल्टा समेत पहले के सभी वैरिएंट को पीछ छोड़ दिया है। दो से तीन दिन में इसके मामले दोगुना हो रहे हैं।

Posted By: Navodit Saktawat