वॉशिंगटन। कोरोना वायरस से पूरी दुनिया दहशत में है, लोगों की मौतों और उन्हें संक्रमित करने के साथ ही इस बीमारी ने कई देशों की अर्थव्यवस्था की कमर तोड़ दी है। इस बीच एक अमेरिकी वैज्ञानिक ने आशंका जाहिर की है कि यह वायरस सीजनल हो सकता है। यानी किसी खास मौसम में, किसी खास इलाके में इस वायरस का प्रकोप फिर से सामने आ सकता है। मौसमी चक्रों में नए कोरोनोवायरस लौटने का एक मजबूत मौका है।

वरिष्ठ अमेरिकी वैज्ञानिक एंथनी फौसी ने कहा कि इसे देखते हुए वायरस का एक टीका और प्रभावी उपचार खोजने की तत्काल जरूरत है। फौसी राष्ट्रीय स्वास्थ्य संस्थान में संक्रामक रोगों में अनुसंधान का नेतृत्व करते हैं। उन्होंने एक ब्रीफिंग के दौरान बताया कि वायरस दक्षिणी गोलार्ध में जड़ें जमाने लगा था, जहां सर्दियों की शुरुआत हो रही है।

उन्होंने कहा कि अब हम क्या देखना शुरू कर रहे हैं... दक्षिणी अफ्रीका और दक्षिणी गोलार्ध के देशों में हमारे पास ऐसे मामले आ रहे हैं, जहां सर्दियों का मौसम आ रहा है। और अगर वास्तव में उनके पास पर्याप्त प्रकोप है, तो इसे टाला नहीं जा सकेगा और हमें तैयार रहने की जरूरत होगी कि हम दूसरी बार इसकी साइकिल को देखेंगे। उन्होंने कहा कि यह पूरी तरह से जोर दे रहा है कि एक वैक्सीन को विकसित करने के लिए हम क्या कर रहे हैं।

इस वैक्सीन का जल्दी से परीक्षण करने और इसे तैयार करने की कोशिश करने की जरूरत है, ताकि ताकि हमारे पास इस वायरस के अगले साइकिल से पहले एक वैक्सीन उपलब्ध हो। वर्तमान में दो टीके हैं, जिनका परीक्षण शुरू हो गया है। इनमें से एक का प्रयोग अमेरिका में और दूसरे का चीन में किया जा रहा है और माना जा रहा है कि उन्हें बाजार में आने में एक से डेढ़ साल तक का समय लग सकता है।

उपचार की जांच भी की जा रही है, कुछ नई दवाएं और अन्य जिन्हें फिर से दिया गया है, जिनमें एंटीमलेरियल्स क्लोरोक्विन और हाइड्रोक्सीक्लोरोक्विन शामिल हैं। फौसी ने निष्कर्ष निकाला कि हम इस वायरस पर काबू पाने में सफल होंगे, लेकिन हमें वास्तव में एक और चक्र के लिए तैयार रहने की जरूरत है। बताते चलें कि इस बीमारी की वजह से अब तक 18 हजार लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि संक्रमित लोगों की संख्या चार लाख से पार पहुंच चुकी है।

Posted By: Shashank Shekhar Bajpai

fantasy cricket
fantasy cricket