हांगकांग। हांगकांग में रविवार को लोकतंत्र की मांग कर रहे प्रदर्शनकारियों और पुलिस के बीच फिर टकराव हुआ। स्वायत्त क्षेत्र के विधानमंडल भवन और केंद्रीय कार्यालय क्षेत्र में घुसने की कोशिश कर रहे प्रदर्शनकारियों को जब पुलिस ने रोकने की कोशिश की, तो टकराव शुरू हो गया। पुलिस ने लाठी-डंडों के साथ आंसू गैस के गोले और पानी की बौछार छोड़ी तो प्रदर्शनकारियों ने पत्थर और पेट्रोल बम चलाए।

हंगामे के बीच प्रदर्शन

सूचना है कि कुछ पेट्रोल बम कार्यालय परिसर के भीतर भी गिरे। कुछ प्रदर्शनकारी हांगकांग स्थित चीनी सेना के अड्डे के नजदीक पहुंच गए, वहां उन्होंने पेट्रोल बम फेंके। उस लाल बैनर को नीचे गिराकर आग लगा दी जिसमें एक अक्टूबर को चीन गणराज्य की 70 वीं वर्षगांठ पर समारोह मनाने की सूचना लिखी थी। एक स्थान पर नीले पानी की बौछार कर रही वाटर मशीन पर फेंके गए पेट्रोल बम से आग लग गई, इसके बाद वहां मौजूद फायर ब्रिगेड ने आग को काबू किया।

पुलिस ने दी चेतावनी

रविवार को कई स्थानों पर भड़की हिंंसा के बाद पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को अपनी गैरकानूनी गतिविधियां बंद करने की चेतावनी दी है। एकजुट लोकतंत्र समर्थकों की गतिविधियों को रोकने के लिए रविवार को चीन समर्थक गुट नहीं दिखे। चीन समर्थक गुट शनिवार को कई स्थानों पर दिखाई दिए थे और उन्होंने लोकतंत्र समर्थकों से भिड़ने की कोशिश भी की थी।

यह है पूरा मामला

हांगकांग में चीन के साथ प्रत्यर्पण संधि करने के प्रस्ताव के विरोध में तीन महीने पहले आंदोलन की शुरुआत हुई थी। इसके बाद उसके साथ चार अन्य मांगें भी जुड़ गईं। इनमें सबसे प्रमुख मांग हांगकांग में लोकतंत्र की मांग है जिसके तहत स्वायत्त क्षेत्र में हांगकांग का ही निवासी चुनाव लड़कर शासन करेगा।

Posted By: Navodit Saktawat

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना