वाशिंगटन। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने सोमवार को फ्लोरिडा में एक भारतीय-अमेरिकी को संघीय न्यायाधीश के रूप में नामित किया। अनुराग सिंघल का नाम व्हाइट हाउस की तरफ से सीनेट को भेजे गए 17 ज्यूडीशरी नॉमिनेशन्स में से एक हैं। यदि सीनेट अनुराग के नाम पर मुहर लगा देती है, तो वह जेम्स आई कोन की जगह लेंगे। वह फ्लोरिडा के दक्षिणी जिले के लिए संयुक्त राज्य अमेरिका के जिला न्यायाधीश बन जाएंगे।

अनुराग फ्लोरिडा में इस पद पर नामांकित होने वाले पहले भारतीय मूल के अमेरिकी हैं। सीनेट न्यायपालिका समिति में उनके नाम की पुष्टि की सुनवाई बुधवार को होनी है। वह वर्तमान में फ्लोरिडा में 17वें सर्किट कोर्ट में साल 2011 से काम कर रहे हैं।

राइस यूनिवर्सिटी से स्नातक अनुराग ने वेक फॉरेस्ट यूनिवर्सिटी स्कूल ऑफ लॉ में अध्ययन किया। उनके माता-पिता साल 1960 में अमेरिका चले गए थे। मूल रूप से उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में रहने वाले उनके पिता एक शोध वैज्ञानिक थे, जो एक्सॉन में काम करते थे।

एथनिक इंडिया वेस्ट अखबार के अनुसार, अनुराग सिंघल शायद सबसे कुख्यात ऐलीन वुर्नोरोस का प्रतिनिधित्व करने के लिए जाने जाते हैं, जो एक सीरियल किलर थी और जिसने फ्लोरिडा में सात लोगों की हत्या की थी। उन्होंने ट्रायल के दौरान वुर्नोस का प्रतिनिधित्व नहीं किया, लेकिन एक मुकदमे में उसका प्रतिनिधित्व किया जब उसने जेल प्रहरियों पर परेशान करने का आरोप लगाया।

वुर्नोरोस का प्रतिनिधित्व करना मुश्किल था क्योंकि उसने अपनी मर्जी से मौत की सजा चुनी थी। साल 2012 में सर्किट कोर्ट में नियुक्त होने के बाद अनुराग ने इंडिया वेस्ट को बताया था कि वह जाना चाहती थी। मैंने उससे इस बारे में बात करने की कोशिश की थी। मैंने उसके मामले की फिर से जांच करने की कोशिश की थी। मैं उसे मौत की सजा से बचाना चाहता था।

Posted By: Shashank Shekhar Bajpai