अमेरिका के राष्ट्रपति Donald Trump ने शुक्रवार को एलान किया कि अमेरिका अब वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन (WHO) के साथ सारे संबंध तोड़ रहा है। WHO कोरोना वायरस को आरंभिक स्तर पर रोकने में नाकाम रहा। अमेरिका ने डब्ल्यूएचओ को दी जाने वाली फंडिंग पहले ही रोक दी थी। Donal Trump ने कोरोना महामारी और हांगकांग के मामले में चीन के खिलाफ पाबंदियां लगाने की घोषणा भी की।

Donald Trump ने चीन पर हमला करते हुए कहा कि चीन ने WHO को गुमराह किया है। चीन ने हमेशा चीजों को छुपाया है और कोरोना मामले में चीन को जवाब देना ही होगा। WHO चीन की कठपुतली के तौर पर काम कर रहा है, इसलिए हम उससे नाता तोड़ रहे हैं। इसके साथ ही कोरोना महामारी मामले में धोखा देने और हांगकांग मामले में ज्यादती की वजह से चीन के खिलाफ पाबंदियां लगा रहे हैं। डोनाल्ड ट्रंप ने कोरोना वायरस के प्रसार के लिए चीन को जिम्मेदार ठहराया और उस पर अक्षमता का आरोप भी लगाया है। उन्होंने कहा कि दुनिया चीन के अपराध की सजा भुगत रही है। चीन ने वैश्विक महामारी की शुरुआत की और हमें लाखों जाने गंवाकर इसकी सजा भुगतनी पड़ी।

डोनाल्ड्र ट्रंप ने कहा कि अमेरिका WHO को सालाना 45 करोड़ डॉलर का भुगतान करता है जबकि चीन हर साल 4 करोड़ डॉलर का भुगतान करता है। इसके बावजूद WHO पर चीन का नियंत्रण है।

चीन पर पाबंदियां:

डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि वे अमेरिका में अध्ययन कर रहे चीनी शोधकर्ताओं पर प्रतिबंध लगा रहे हैं क्योंकि ये लोग अमेरिका की सुरक्षा के लिए खतरा हैं। इसके अलावा अमेरिकी स्टॉक एक्सचेंज में सूचीबद्ध उन कंपनियों के खिलाफ कार्रवाई होगी जो अमेरिकी कानूनों का पालन नहीं कर रही हैं। व्यापार और पर्यटन के क्षेत्र में हांगकांग को मिले विशेष दर्जे को वापस लिया जा रहा है। ट्रंप द्वारा चीन पर लगाए गए प्रतिबंधों को डेमोक्रेटिक और रिपब्लिकन पार्टी के नेताओं ने मामूली बताया।

Posted By: Kiran K Waikar

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना