White House ने शनिवार को इस खबर का खंडन किया कि रूस द्वारा अफगानिस्तान में अमेरिकी सैनिको को मारने के लिए इनाम की पेशकश की जानकारी राष्ट्रपति Donald Trump और उपराष्ट्रपति Mike Pence को दी गई थी। पूर्व उपराष्ट्रपति जो बिडेन ने कहा कि Donald Trump को रूस को सजा देना चाहिए थी लेकिन उन्होंने ऐसा नहीं किया, यह शर्मनाक है।

अमेरिकी वेबसाइट न्यूयॉर्क टाइम्स ने शुक्रवार को एक रिपोर्ट प्रकाशित की थी जिसमें यह खुलासा किया गया था कि रूसी मिलेट्री इंटेलीजेंस यूनिट ने अफगानिस्तान में तैनात अमेरिकी सैनिकों को मारने पर तालिबान के लिए इनाम की घोषणा की थी। रिपोर्ट में बताया गया कि अमेरिकी राष्ट्रपति Donald Trump को इसके बारे में जानकारी दी गई थी। इसके बाद मार्च के अंत में व्हाइट हाउस नेशनल सिक्यूरिटी काउंसिल की बैठक भी हुई थी लेकिन कुछ नहीं हुआ।

व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव काइली मैकनी ने कहा कि अमेरिका को रोज हजारों खुफिया जानकारी मिलती है और इनकी बारीकी से जांच की जाती है। उन्होने कहा, व्हाइट हाउस नियमित रूप से खुफिया या आंतरिक विचार-विमर्श पर कमेंट नहीं करता है। सीआईए के निदेशक, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार और चीफ ऑफ स्टाफ इस बात की पुष्टि कर सकते हैं कि इस कथित रूसी इनाम की खुफिया जानकारी के बारे में राष्ट्रपति Donald Trump और उपराष्ट्रपति Mike Pence को जानकारी नहीं दी गई थी।

डेमोक्रेटिक पार्टी के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार जो बिडेन ने वर्चुअल टाउन हॉल में कहा, रूस ने ऐसी हरकत कर अंतरराष्ट्रीय कानून का उल्लंघन किया है। डोनाल्ड ट्रंप को इस हरकत के लिए रूस को सजा देना चाहिए थी लेकिन उन्होंने ऐसा नहीं किया। यह बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है। राष्ट्रपति के रूप में उनका पूरा कार्यकाल व्लादीमिर पुतिन के लिए गिफ्ट के समान रहा है।

Posted By: Kiran K Waikar

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना