सिंगापुर। अगर आप चाय पीते हैं, तो आपके लिए अच्छी खबर है। अगर, आप चाय नहीं पीते हैं, तो इस खबर को पढ़ने के बाद चाय पीने का बहाना ढूंढ़ सकते हैं। दरअसल, नेशनल यूनिवर्सिटी ऑफ सिंगापुर के शोधकर्ताओं ने पाया कि चाय पीने से दिमाग सक्रिय और संगठित होता है। इस अध्ययन के लिए शोधकर्ताओं ने 60 साल या उससे अधिक उम्र के 36 लोगों के न्यूरोइमेजिंग डेटा पर रिसर्च की। यह अध्ययन एजिंग पत्रिका में प्रकाशित हुआ है।

उन्होंने पाया कि चाय पीने वाले लोगों के दिमाग का प्रत्येक हिस्सा, चाय नहीं पीने वालों की तुलना में बेहतर ढंग से संगठित होता है। दिमाग के प्रत्येक हिस्से का व्यवस्थित रहना स्वस्थ संज्ञानात्मक क्रिया (कॉग्नेटिव एक्टिविटी) से जुड़ा हुआ है। सीधे शब्दों में कहें तो सीखने, जानने, सोचने, निर्णय लेने, ध्यान लगाने और समझने की शक्ति को बढ़ाता है।

यूनिवर्सिटी के सहायक प्राध्यापक और टीम लीडर फेंग लेई ने कहा कि हमारे परिणाम मस्तिष्क के ढांचे पर चाय पीने से पड़ने वाले सरकारात्मक योगदान की पहली बार पुष्टि करते हैं। नतीजों से पता चलता है कि चाय पीने से दिमागी तंत्र में उम्र के कारण होने वाली क्षति में कमी आती है।

सभी प्रतिभागी सिंगापुर के रहने वाले थे और उनसे पूछा गया था कि ब्लैक टी, ग्रीन टी, उलूंग टी या कॉफी कितनी बार पीते हैं। नतीजों से पता चला कि जिन लोगों ने 25 साल तक हफ्ते में कम से कम चार बार चाय पी थी, उनके दिमाग चाय नहीं पीने वालों की तुलना में ज्यादा कनेक्टेड थे। डॉक्टर फेंग ली कहा कि हमारे नतीजे इस बात के पहले सबूत हैं कि चाय पीने वाले लोगों के दिमाग की संरचना पर इसका सकारात्मक असर होता है।

Posted By: Shashank Shekhar Bajpai

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना