एफएटीएफ ने पाकिस्तान को ने बड़ा झटका दिया है। एफएटीएफ की क्षेत्रीय शाखा एशिया प्रशांत समूह ने पाकिस्तान को निगरानी सूची में बनाए रखने का फैसला किया है। आतंकी गतिविधियों पर लगाम लगाने और आर्थिंक अपराध को रोकने के लिए एक प्रभावी तंत्र विकसित में नाकाम रहने पर इसने यह फैसला किया है। पेरिस स्थित एफएटीएफ ने जून 2018 में पाकिस्तान को निगरानी सूची में डाला था। उसी समय से यह इससे बाहर निकलने के लिए संघर्ष कर रहा है। एफएटीएफ एशिया प्रशांत समूह ने 40 तकनीकी सिफारिशों के पाकिस्तान द्वारा अनुपालन किए जाने के मामले में दूसरी फालोअप रिपोर्ट जारी की। रिपोर्ट में कहा गया है कि पांच मामलों में अनुपालन, 15 अन्य में बड़े पैमाने पर अनुपालन और एक पर आंशिक रूप से अनुपालन के लिए पाकिस्तान का फिर से मूल्यांकन किया गया था। डान अखबार ने बताया कि कुल मिलाकर, पाकिस्तान अब सात सिफारिशों का पूरी तरह से अनुपालन और 24 अन्य का काफी हद तक अनुपालन कर रहा है। देश सात सिफारिशों का आंशिक रूप से अनुपालन कर रहा है। कुल 40 सिफारिशों में से दो का इसने अनुपालन नहीं किया है। कुल मिलाकर, पाकिस्तान अब 40 सिफारिशों में से 31 के अनुरूप या बड़े पैमाने पर अनुपालन कर रहा है।

Posted By: Navodit Saktawat

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags