वाशिंगटन। नेशनल जियोग्राफिक पत्रिका ने बताया कि संयुक्त राज्य में कोरोना वायरस के लिए सकारात्मक परीक्षण करने वाला पहला श्वान मर गया है। वायरस के कई पीड़ितों से मिलते-जुलते कोरोना संक्रमण के लक्षणों से जूझने के बाद उसकी मौत हो गई। सात वर्षीय जर्मन शेफर्ड ब्रीड का बडी, अप्रैल में कोरोना वायरस से संक्रमित होने के बाद बीमार हो गया था। यह लगभग वही समय था, जब उसके मालिक रॉबर्ट महोनी Covid​​-19 से ठीक हो रहे थे।

लगता है कि बडी को सांस लेने में परेशानी हो रही थी और उसकी हालत अगले हफ्तों और महीनों में खराब होती चली गई। बडी को रक्त के थक्कों की उल्टी शुरू होने, पेशाब करने के दौरान रक्त निकलने और चलने-फिरने में असमर्थ होने के बाद न्यूयॉर्क में रहने वाले महोनी और उनकी पत्नी एलीसन ने अंततः 11 जुलाई को कुत्ते को मौत के घाट उतार दिया। मगर, परिवार ने नेशनल ज्योग्राफिक को बताया कि वह इस संदेह की पुष्टि करने में कठिनाई महसूस कर रहे हैं कि बडी SARS-CoV-2 से संक्रमित था।

महोनी ने कहा कि उनके क्षेत्र में कई जानवरों के क्लीनिक महामारी के कारण बंद थे। मगर, बिना किसी संदेह के मुझे लगता है कि बडी कोरोना से संक्रमित था। उनमें से कुछ लोगों को संदेह था कि श्वान वायरस से संक्रमित हो सकता है। दरअसल, अधिकांश टेस्ट किट की आपूर्ति को मानव उपयोग के लिए संरक्षित किया जा रहा था। मगर, एक क्लिनिक अंत में यह पुष्टि करने में सक्षम था कि बडी कोरोना संक्रमित था और पाया कि परिवार के 10 महीने के पिल्ला, जो कभी बीमार नहीं हुआ था, उसमें वायरस के एंटीबॉडी थे।

बाद में बडी के वेट्स ने पाया कि कुत्ते को लिम्फोमा से पीड़ित होने की संभावना थी। इससे यह सवाल खड़ा होता है कि क्या जानवर भी इंसानों की तरह, पहले से मौजूद बीमारियों के साथ कोरोना वायरस के लिए अतिसंवेदनशील हो सकते हैं। उन्होंने नेशनल जियोग्राफिक को बताया कि न तो सार्वजनिक स्वास्थ्य अधिकारी और न ही पशु चिकित्सकों ने इसके बारे में परिवार को बहुत अधिक जानकारी दी। दरअसल, जानवरों में वायरस के बारे में पर्याप्त डेटा नहीं था।

Posted By: Shashank Shekhar Bajpai

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

Raksha Bandhan 2020
Raksha Bandhan 2020