रियाद। सऊदी अरब के पत्रकार जमाल खाशोगी के बेटों ने शुक्रवार को कहा कि वे अपने पिता के हत्यारों को "माफ" करते हैं। वॉशिंगटन पोस्ट के स्तंभकार के बेटे सलाहा खशोगी ने ट्विटर पर कहा- हम शहीद जमाल खशोगी के बेटे घोषणा करते हैं कि हम हमारे पिता की हत्या करने वालों को माफ करते हैं। सऊदी अरब में रहने वाले सलाह की घोषणा के कानूनी प्रभाव तुरंत स्पष्ट नहीं थी।

पत्रकार रहे खशोगी शाही परिवार के अंदरूनी सूत्र थे, लेकिन बाद में वह शाही परिवार के आलोचक बन गए थे। वह अपने लेख में ऐसी कई बातें लिखते थे, जो शाही परिवार को पसंद नहीं आती थी। कहा जाता है कि शाही परिवार के इशारे पर 2 अक्टूबर 2018 को इस्तांबुल के वाणिज्य दूतावास में उनकी हत्या कर दी गई। खाशोगी का शव आज तक बरामद नहीं हो सका है। इस मामले के सामने आने के बाद पूरी दुनिया में आक्रोश भड़क गया था।

अंकारा ने कहा कि ऑपरेशन में रियाद से भेजे गए 15 एजेंट शामिल थे। सरकारी वकील ने कहा कि मामले में दोषी पाए गए 11 व्यक्तियों में से पांच को मौत की सजा दी गई, जबकि तीन को 24 साल जेल की सजा सुनाई गई और अन्य को बरी कर दिया गया।

सलाह ने पहले कहा था कि उन्हें न्यायिक प्रणाली में पूर्ण विश्वास था। उन्होंने इस मामले का फायदा उठाने की कोशिश कर रहे विरोधियों की आलोचना भी की थी। वाशिंगटन पोस्ट ने अप्रैल में बताया कि खशोगी के बच्चों, जिनमें सालाह भी शामिल हैं, उन्हें करोड़ों मिलियन डॉलर के घर मिले हैं और अधिकारियों द्वारा उन्हें प्रति माह हजारों डॉलर का भुगतान किया जा रहा है।

लेकिन सालाह ने सऊदी सरकार के साथ वित्तीय समझौते पर चर्चा करने से इनकार करते हुए रिपोर्ट को अस्वीकार कर दिया था। सीआईए और संयुक्त राष्ट्र के एक विशेष दूत दोनों ने सीधेतौर पर क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान का नाम इस हत्या की वारदात से जोड़ा था, जिससे सऊदी ने इनकार कर दिया था।

Posted By: Shashank Shekhar Bajpai

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना