वाशिंगटन। अमेरिका के पूर्व विदेश मंत्री माइक पोंपियो ने एक बड़ा दावा किया है, उनका कहना है कि 2019 में बालाकोट में हुए स्ट्राइक के बाद भारत और पाकिस्तान परमाणु युद्ध की कगार पर पहुंच गए थे। पोंपियो ने बताया कि उस समय भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने उन्हें बताया था कि बालाकोट हमले के बाद पाकिस्तान भारत पर परमाणु हमले की तैयारी में था, भारत ने भी इसका जवाब देने की तैयारी कर ली थी।

रातभर भारत और पाकिस्तान की सरकार से की बात

माइक पोंपियो ने मंगलवार को लांच हुई अपनी किताब 'नेवर गिव एन इंच : फाइटिंग फार द अमेरिका आई लव' में बताया है कि वे उस दिन यूएस और उत्तर कोरिया के बीच हो रहे सम्मेलन में हनोई में थे। दोनों देशों के बीच परमाणु युद्ध को रोकने के लिए रातभर उन्होंने और उनकी टीम ने भारत और पाकिस्तान की सरकारों से बात की।

परमाणु युद्ध टालने में जुटे रहे

अमेरिका के पूर्व विदेश मंत्री माइक पोंपियो के अनुसार फरवरी 2019 में दोनों देशो के बीच की दुश्मनी परमाणु युद्ध में तब्दील हो सकती थी। भारत ने पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद पाकिस्तान में मौजूद आतंकी संगठन को निशाना बनाते हुए बालाकोट में एयर स्ट्राइक कर जवाब दिया था। पोंपियो के अनुसार उस रात को हम कभी नहीं भूला जा सकता। पहले वे उत्तर कोरिया से परमाणु हथियारों को लेकर बात करते रहे और फिर रात में भारत और पाकिस्तान के बीच परमाणु युद्ध रोकने में लगे रहे।

विदेश मंत्रालय ने नहीं कही कोई बात

अमेरिका के पूर्व विदेश मंत्री द्वारा भारत और पाकिस्तान के परमाणु युद्ध की कगार पर पहुंचने के दावे पर भारत के विदेश मंत्रालय ने कोई टिप्पणी नहीं की है। पोंपियो ने अपनी किताब में लिखा है कि उनके कार्याकाल में अमेरिका और भारत के संबंधों को मजबूत करना भी प्राथमिकता थी।

Posted By: Prashant Pandey

  • Font Size
  • Close