रियाद। चीन के वुहान शहर से फैले कोरोना वायरस के प्रकोप का साया वैश्विक संगठन G20 की बैठक पर भी पड़ा है। मगर, इस बैठक को स्थगित नहीं किया गया है और पहली बार वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये दुनियाभर के नेता इस बैठक में हिस्सा लेने जा रहे हैं। सऊदी अरब के किंग सलमान ने कहा- गुरुवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये होना वाला शिखर सम्मेलन कोरोना वायरस महामारी के लिए वैश्विक प्रतिक्रिया के लिए वैश्विक नेताओं को एकजुट करेगा। इस बैठक में पीएम मोदी, अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप सहित कई बड़े नेता जुड़ेंगे।

किंग सलमान ने ट्वीट किया- दुनिया COVID-19 महामारी से हलकान है और स्वास्थ्य प्रणालियों व वैश्विक अर्थव्यवस्था चुनौतियों का सामना कर रही है। हम एक वैश्विक प्रतिक्रिया की दिशा में प्रयासों को एकजुट करने के लिए इस असाधारण G20 शिखर सम्मेलन का आह्वान कर रहे हैं। ईश्वर, मानवता को सभी नुकसान से बचाए। बताते चलें कि इस शिखर बैठक की अध्यक्षता किंग सलमान ही कर रहे हैं।

किंगडम ने एक बयान में कहा- शिखर सम्मेलन को COVID-19 महामारी के प्रसार को रोकने और इसके मानवीय व आर्थिक प्रभावों के लिए समन्वित वैश्विक प्रतिक्रिया को आगे बढ़ाने के उद्देश्य से गुरुवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये आयोजित किया जाएगा। समूह के सदस्यों में भारत, अर्जेंटीना, ऑस्ट्रेलिया, ब्राजील, कनाडा, चीन, जर्मनी, फ्रांस, इंडोनेशिया, इटली, जापान, मैक्सिको, रूसी संघ, सऊदी अरब, दक्षिण अफ्रीका, दक्षिण कोरिया, तुर्की, यूके, अमेरिका और यूरोपियन संघ शामिल हैं।

भारत G20 समूह का सदस्य राष्ट्र है। शिखर सम्मेलन में भाग लेने वाले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में 20 के समूह की महत्वपूर्ण भूमिका है। उन्होंने कहा कि G20 की COVID-19 महामारी को संबोधित करने में एक महत्वपूर्ण वैश्विक भूमिका है। मैं G20 वर्चुअल समिट में सऊदी के किंग की अध्यक्षता में होने जा रहे G20 की उत्पादक चर्चा के लिए तत्पर हूं।

Posted By: Shashank Shekhar Bajpai