पाकिस्तान में काम करने में दुनिया की सबसे बड़ी सर्च इंजन कंपनी गूगल के साथ ही सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म फेसबुक और ट्विटर को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। अब इन कंपनियों का सब्र जवाब देने लगा है और Google, Facebook, Twitter ने पाकिस्तान छोड़ने की धमकी दे डाली है। पाकिस्तान की इमरान खान सरकार ने देश में डिजिटल सेंसरशिप लॉ लागू किया है, जिसमें स्थानीय अधिकारियों को यह अधिकार दिए गए हैं कि वे अपने यहां जब चाहें गूगल, फेसबुक और ट्विटर पर पाबंदी लगा सकते हैं। कानून के मुताबिक, पाकिस्तान के टेलिकॉम अथोरिटी के पास यह अधिकार है कि वे किसी भी आपत्तिजनक कंटेंट को हटा सकें या ब्लॉक कर सकें। इमरान खान का मानना है कि पाकिस्तान या इसकी सरकार के खिलाफ चलाए जा रहे अभियान को रोका जाना जरूरी है।

इमरान खान सरकार इस साल फरवरी में यह कानून लेकर आई थी। इसका विरोध करने वालों में Apple, Amazon, LinkedIn, SAP, Expedia Group, Yahoo, Airbnb, Grab, Rakuten, Booking.com भी शामिल हैं। जब इस कानून का ड्राफ्ट तैयार किया जा रहा था, तब भी इन कंपनियों ने पाकिस्तान छोड़ने की धमकी दी थी। कंपनियों का एक स्वर में मानना है कि इस कानून के जरिए पाकिस्तान सरकार अभिव्यक्ति की आजादी का हनन कर रही है। अब कंपनियों का कहना है कि पाकिस्तान सरकार ने उनसे सभी बात करने की कोशिश नही की और अब कानून लागू होने जा रहा है।

कंपनियों का कहना है कि इस कानून के लागू होने के बाद उनके लिए पाकिस्तान में बिजनेस करना और लोगों को प्लेटफॉर्म उपलब्ध करवाना बहुत मुश्किल हो जाएगा। कंपनियों के मुताबिक, यदि पाकिस्तान चाहता है कि वह अपने यहां डिजिटल बदलाव लाए और बड़ी कंपनियों ने प्रौद्योगिकी निवेश के लिए प्रोत्साहित करे तो हम सरकार से व्यावहारिक, स्पष्ट नियमों पर उद्योग के साथ काम करने का आग्रह करते हैं जो इंटरनेट के लाभों की रक्षा करते हैं और लोगों को नुकसान से सुरक्षित रखते हैं।

Posted By: Arvind Dubey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस