मल्टीमीडिया डेस्क। हफ्ते में तीन बार ग्रीन टी पीकर आप अपनी जिंदगी में एक साल और बढ़ा सकते हैं। इसकी मदद से दिल का दौरा या स्ट्रोक होने का खतरा कम हो सकता है। एक अध्ययन में शोधकर्ताओं ने पाया है कि ग्रीन ट्री में मौजूद एंटीऑक्सिडेंट दिल की रक्षा करने और लोगों को लंबे समय तक स्वस्थ रखने में मदद कर सकते हैं। शोधकर्ताओं ने चीन में एक लाख से अधिक लोगों के स्वास्थ्य पर इसका अध्ययन किया और पाया कि नियमित रूप से ग्रीन टी पीने वाले लोग, इसे नहीं पीने वाले लोगों की तुलना में औसतन 1.26 साल अधिक जीए।

शोधकर्ताओं ने पाया कि ब्लैक टी पीने वालों में कोई महत्वपूर्ण स्वास्थ्य लाभ नहीं मिला, जबकि ग्रीन टी का प्रभाव था। हालांकि, विशेषज्ञों का कहना है कि बेहतर स्वास्थ्य की उम्मीद में लोगों के लिए ब्लैक टी छोड़कर ग्रीन टी पीने के लिए कहने के लिए अध्ययन में पर्याप्त मजबूत सबूत नहीं है और चाय पीने से अन्य अस्वास्थ्यकर आदतें खत्म नहीं होंगी। बीजिंग में चाइनीज एकेडमी ऑफ मेडिकल साइंसेज के एक अध्ययन ने एक लाख 902 लोगों के स्वास्थ्य की निगरानी की, जिन्हें कभी कैंसर, दिल का दौरा या स्ट्रोक नहीं हुआ था।

उन्होंने लगभग सात वर्षों तक उन लोगों के स्वास्थ्य पर नजर रखी और यह देखा कि वे कितनी बार चाय पीते हैं। नियमित रूप से ग्रीन टी पीने वाले लोगों में उन्हें शामिल किया गया, जो हफ्ते में तीन या उससे अधिक बार चाय पी रहे थे। इससे कम ग्रीन टी पीने वालों को ग्रीन टी नहीं पीने वालों की श्रेणी में रखा गया। अध्ययन में विशेष रूप से ग्रीन टी को नहीं देखा गया था। प्रयोग में केवल आठ प्रतिशत लोगों ने ब्लैक टी पी थी और इसका उन्हें कोई महत्वपूर्ण स्वास्थ्य लाभ नहीं मिला था। इस दौरान उन्होंने पाया कि ग्रीन टी से हृदय रोग या स्ट्रोक होने और उन स्थितियों की वजह से मरने का खतरा 25 फीसद तक कम होने की संभावना है।

अध्ययन के लेखक डॉक्टर जिनयान वांग ने कहा- आदतन चाय का सेवन हृदय रोग और मृत्यु के कम जोखिम से जुड़ा है। ग्रीन टी को लंबे समय तक पीने वालों के लिए अनुकूल स्वास्थ्य प्रभाव सबसे मजबूत हैं। डॉक्टर वांग और उनके सहयोगियों ने कहा कि इसका एक कारण यह है कि ग्रीन लोगों के स्वास्थ्य में सुधार कर सकती है क्योंकि इसमें पॉलीफेनोल्स होते हैं, जिसमें एंटीऑक्सिडेंट होते हैं। पॉलीफेनोल्स प्राकृतिक रूप से फलों और सब्जियों में पाए जाते हैं और माना जाता है कि यह सेल की क्षति को रोकने या मरम्मत करने, शरीर में शर्करा के स्तर को नियंत्रित करने और वजन बढ़ाने में सक्षम होते हैं।

चीनी शोधकर्ताओं ने कहा कि पिछले सबूतों से पता चला है कि पॉलीफेनोल्स हृदय रोग, उच्च रक्तचाप और उच्च कोलेस्ट्रॉल से रक्षा कर सकते हैं। ग्रीन टी विशेष रूप से फायदेमंद हो सकती है क्योंकि यह ब्लैक टी की तरह फर्मेंटेड (किण्वित) नहीं होती है। फर्मेंटेड होने की प्रक्रिया में एंटीऑक्सिडेंट कम प्रभावी बन सकते हैं।

Posted By: Shashank Shekhar Bajpai

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस