नई दिल्ली। एक शोध में दावा किया गया है कि खून की जांच से समय रहते यह पता लगाना संभव है कि किस मरीज को डायबिटीज होने का खतरा है। वैज्ञानिकों का कहना है कि खून में ग्लूकोज की मात्रा भले ही सामान्य हो, लेकिन व्यक्ति में आगे चलकर डायबिटीज का खतरा हो सकता है।

नियमित जांच से पांच साल पहले ही इस खतरे का पता लगाना संभव है। अध्ययन के दौरान नौ लाख से ज्यादा लोगों से जुड़े आंकड़ों का अध्ययन किया गया। इन सभी का साल में तीन बार प्लाज्मा ग्लूकोज जांच गया। पांच साल चले अध्ययन में इनमें से करीब 10 प्रतिशत लोगों को डायबिटीज हो गया था।

वैज्ञानिकों ने पाया कि प्लाज्मा ग्लूकोज का स्तर मानक से ज्यादा भले ही नहीं हो, लेकिन इसका बढ़ा हुआ स्तर भविष्य में डायबिटीज होने के खतरे का संकेत जरूर दे सकता है।

यह भी पढ़ें: एक्सरसाइज और पर्याप्त पानी से मिल सकता है Low BP से छुटकारा, जानिए कैसे

Posted By: Arvind Dubey

  • Font Size
  • Close