न्यूयार्क | विश्‍व के सबसे शक्तिशाली देश का प्रकृति के सामने बुरा हाल है। यहां अंटार्कटिका से आने वाली बर्फीली हवाओं ने सबकुछ जमा कर रख दिया है। सोमवार को मध्‍य तथा उत्‍तरी अमेरिका में तापमान शून्‍य से 51 डिग्री नीचे चला गया। वहीं मिनिसोटा शहर में तापमान रिकॉर्ड किया गया -40 डिग्री सेल्सियस। जबकि अंटार्कटिका की खाड़ी में स्थित कनाडा का न्‍यनतम तापमान 35 डिग्री सेल्सियल से भी कम है। इसे सदी का सबसे लंबा दिन कहा जा रहा है। पिछले कई दशकों से अमेरिका में इतनी ठंड कभी दर्ज नहीं की गई। ठंड के कारण अमेरिकी सरकार ने स्‍कूलों में अवकाश घोषित कर दिया है और जनता से आवश्‍यक होने पर ही घरों से बाहर निकलने का आग्रह किया गया है। बचाव कर्मचारी सड़कों से जमी बर्फ को हटाने का काम कर रहे हैं। पर जैसे ही एक जगह से बर्फ हटाई जाती है, वहां फिर से बर्फ जम जाती है। बात करें सड़कों की तो वहां भी घना कोहरा छाया हुआ है और गाडि़‍यों के आवागमन में परेशानी आ रही है। देश के स्‍थानों से गाडि़यों में टक्‍कर की घटनाओं की खबर आ रही है। मकानों से लेकर छतों तक और खिड़कियों तक में बर्फ ही बर्फ दिखाई दे रही है। यही नहीं कभी हरे-भरे दिखने वाले पेड़ भी सफेद रंग के प्रतीत हो रहे हैं। जबरदस्‍त ठंड के कारण अमेरिका में अब तक 20 लोगों की मौत हो चुकी है।

उड़ानों पर पड़ा सबसे ज्‍यादा असर

देश के बर्फीले मौसम के कारण अमेरिका में अब तक चार हजार से भी ज्‍यादा उड़ानें रद्द कर दी गई हैं। वहीं तीन हजार से ज्‍यादा उड़ानों में विलंब हो रहा है। समाचार एजेंसी सिन्‍हुआ नले शिकागो ट्रिब्‍यून में प्रसारित खबर के हवाले से बताया कि विमानों में ईंधन डालने में आने वाली समस्‍या की वजह से साउथवेस्‍ट एयरलाइसं ने मिडवे से सोमवार दोपहर बाद कई उड़ानें रद्द कर दी हैं। बताया जा रहा है कि लगातार बर्फबारी के कारण अमेरिका में शिकागो ओहारे अंतरराष्‍ट्रीय हवाईअड्डे और मिडवे अंतरराष्‍ट्रीय हवाईअड्डे से 1800 उड़ानें सोमवार को रद्द कर दी गईं।

Posted By:

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना