वियना। ऑस्ट्रियाई अधिकारियों ने मंगलवार को घोषणा की है कि एडोल्फ हिटलर ने जिस घर में जन्म लिया था, उसे पुलिस थाने में बदलकर "बेअसर" करने की योजना है। इसके लिए इमारत में कुछ बदलाव किए जाएंगे। जर्मनी की सीमा पर उत्तरी ऑस्ट्रियाई शहर ब्रौनौ में कोने में बने पीले घर में 20 अप्रैल 1889 को हिटलर का जन्म हुआ था। इस घर को साल 2016 में सरकारी नियंत्रण में ले लिया गया था।

इमारत को लेकर मालिक के साथ एक लंबी कानूनी लड़ाई चली, जो पिछले साल ही समाप्त हुई है। दो भाइयों द्वारा संचालित ऑस्ट्रियाई आर्किटेक्चर फर्म मार्टे.मार्ट (Marte.Marte) को संपत्ति में बदलाव करने के लिए 12 उम्मीदवारों में से चुना गया है। सरकार को उम्मीद है कि इस काम में कुछ 56 लाख डॉलर खर्च होंगे और साल 2033 की शुरुआत में यह काम पूरा हो जाएगा।

आंतरिक मंत्री कार्ल नेहमर ने एक संवाददाता सम्मेलन में योजना की घोषणा करते हुए कहा कि एक तानाशाह और सामूहिक हत्यारे के जन्म घर से भविष्य के लिए एक नया अध्याय खोला जाएगा। मंत्रालय के अधिकारी हरमन फेनर ने कहा कि इमारत के वास्तुकला और उपयोग को समायोजित करके सरकार ने पूरे परिसर को न्यूट्रलाइज (बेअसर) करने का लक्ष्य बनाया है।

हालांकि, हिटलर ने इस घर में केवल कुछ समय ही बिताया था, लेकिन इसने दुनिया भर में नाजी विचारधारा से सहानुभूति रखने वाले इस घर को अभी भी नाजी क्रांति के प्रतीक के रूप में देखते हैं। फासीवाद विरोधी प्रदर्शनकारियों ने हिटलर के जन्मदिन पर इमारत के बाहर रैलियां भी की हैं। भवन के बाहर एक स्मारक पट्टिका भी निकाली जाएगी और एक संग्रहालय में प्रदर्शित की जा सकती है।

Posted By: Shashank Shekhar Bajpai

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

जीतेगा भारत हारेगा कोरोना
जीतेगा भारत हारेगा कोरोना