बर्लिन। जर्मनी के फेचनहेम जिले में जेनी नाम की एक अरबी घोड़ी पिछले 14 साल से अकेले टहलने निकलती है। वह हर सुबह गलियों फ्रेंकफर्ट की सड़कों में टहलने के लिए निकलती है। इलाके के लोग भी इस आउटडोर पालतू पशु को देखने के आदी हो गए हैं।

जेनी परिचित लोगों के लिए एक कार्ड पहनती है, जिसमें लिखा होता है- मेरा नाम जेनी है और मैं भागी नहीं हूं, सिर्फ टहलने के लिए निकली हूं, शुक्रिया। वह शहर में किसी सेलिब्रिटी की तरह है और हर कोई उसे देखने का इंतजार करता है।

जेनी पिछले 14 साल से अकेले ही यह सैर कर रही हैं क्योंकि उसके मालिक वर्नर वीशेडेल 79 साल के हो चुके हैं। लिहाजा, अब वह जेनी की सवारी नहीं कर सकते। हर सुबह वीशेडेल अपने दरवाजे को खोलते हैं और जेनी उन चिर-परिचित रास्तों पर टहलने के लिए निकल पड़ती है।

जेनी दोपहर के भोजन के लिए घर पर लौटने से पहले दिन में 8 बार अपने रास्ते पर टहलती है। उसके मालिक के अनुसार, हो सकता है कि उसके पेट में घड़ी लगी हो और उसे पता हो कि घर में किस समय पर खाना मिलेगा। स्थानीय लोग भी रोज जेनी को देखने की उम्मीद करते हैं और उसे टहलता हुआ देखकर मजे लेते हैं।

हालांकि, कुछ पैदल यात्री उसे अकेला सड़क पर घूमता हुआ देखकर चिंता भी करते हैं और पुलिस को फोन भी करते रहते हैं। मगर, पुलिस प्रवक्ता इसाबेल न्यूमन ने कहा कि जेनी ने पिछले 14 साल में किसी के लिए कोई खतरा पैदा नहीं किया। वेइशेडेल पुलिस के साथ काम करता है ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि जेनी और अन्य नागरिक सुरक्षित हैं।

ट्राम स्टेशन सहित हर जगह पर जेनी के दोस्त और अभिभावक हैं। ड्राइवर भी घोड़ी से परिचित हो गया है और उसकी यात्राओं का स्वागत करता है। सोशल मीडिया पर कुछ लोगों ने जेनी की स्वतंत्रता की आलोचना की है।

कुछ लोगों का कहना है कि इससे जेनी की सुरक्षा और सड़कों पर लोगों की सुरक्षा के लिए बड़ी लापरवाही कहा जा सकता है। मगर, उसकी पशु चिकित्सक मरेन हिलिंग ने कहा कि जेनी बहुत आराम और संतुष्ट लगती है।

Posted By: Shashank Shekhar Bajpai