पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कश्मीर को लेकर नई चाल चली है। इमरान खान ने गिलगिट बाल्टिस्तान को अस्थायी प्रांत का दर्जा देने का ऐलान किया है। भारत ने पाकिस्तान के इस कदम का विरोध करते हुए स्पष्ट किया है कि पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर समेत पूरा लद्दाख भारत का हिस्सा है। बता दें, कश्मीर के मुद्दे पर पाकिस्तान को हाल ही में सऊदी अरब से झटका लगा था। सऊदी अरब ने अपने नोट पर जारी दुनिया के नक्शे में पीओके और गिलगिट बाल्टिस्तान को पाकिस्तान के हिस्से से गायब कर दिया है।

पाकिस्तान से मिली जानकारी के मुताबिक, इमरान खान सरकार पिछले कुछ दिनों से गिलगिट बाल्टिस्तान की स्थिति बदलने की फिराक में थी। इमरान खान ने यहां चुनाव कराने का भी ऐलान किया है।

भारत ने तब भी दी थी तीखी प्रतिक्रिया

इमरान खान की उस हरकत पर प्रतिक्रिया देते हुए भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने कहा था कि पाकिस्तान को भारत के आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप का अधिकार नहीं है। हमारा रुख स्पष्ट है कि केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के सभी क्षेत्र भारत का अभिन्न अंग रहे हैं, हैं और रहेंगे। हाल में सऊदी अरब ने भी गिलगिट बाल्टिस्तान समेत गुलाम कश्मीर को पाकिस्तान के नक्शे से हटा दिया है।

पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में इमरान खान को विरोध का सामना करना पड़ रहा है। वहां पाकिस्तान के खिलाफ ही रैलियां निकाली जा रही हैं। यह स्थिति इमरान खान और पाकिस्तान सेना, दोनों के लिए असहज है। गिलगिट बाल्टिस्तान की स्थिति में छेड़छाड़ का भी विरोध रहा है।

Posted By: Arvind Dubey

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

Budget 2021
Budget 2021