इस्लामाबाद। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान अपनी पहली अमेरिका यात्रा पूरी कर गुरुवार को इस्लामाबाद लौट आए। हवाई अड्डे पर समर्थकों ने उनका भव्य स्वागत किया। इससे उत्साहित इमरान ने कहा, ऐसा लगा है मानो मैं किसी विदेश यात्रा से नहीं, बल्कि वर्ल्ड कप विजेता बनकर लौट रहा हूं।

इमरान कतर एयरलाइन्स के विमान इस्लामाबाद लौटे। उन्होंने न्यू इंटरनेशनल इस्लामाबाद एयरपोर्ट पर समर्थकों के सामने कहा- हमने सत्ता में आने के बाद उन सभी संस्थानों को दोबारा खड़ा किया है, जिन्हें पिछले सरकारों ने लूट कर बर्बाद कर दिया था।

बकौल इमरान खान, इस दौरे पर मैं अमेरिका और अन्य पश्चिमी देशों से अपील की है कि दुनिया में पाकिस्तान की छवि बिगाड़ने वालों को बेनकाब करें। पाकिस्तान अमन और चैन चाहता है।

इमरान खान का यह अमेरिका दौरा तीन दिन का था। इस दौरान उन्होंने व्हाइट हाउस में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प से भी मुलाकात की थी। इसी मुलाकात के दौरान इमरान ने कश्मीर मुद्दा उठाया था और मध्यस्थता करने की अपील की थी। तभी ट्रम्प ने कहा था कि जी-20 समिट के दौरान जब भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उनसे मिले थे, तब उन्होंने भी मध्यस्थता की बात कही थी।

ट्रम्प के इस बयान पर बवाल मच गया था, क्योंकि पीएम मोदी ने ऐसी कोई बात नहीं कही थी। भारत के विदेश मंत्रालय ने तत्काल ट्रम्प के बयान का खंडन किया था और दो टूक भाषा में साफ कर दिया था कि कश्मीर समेत सभी मसले द्विपक्षीय तरीके से हल किए जाएंगे।

वहीं इमरान की कोशिश रही कि कश्मीर पर अमेरिका से भारत पर दबाव डलवाा जाए। हालांकि ऐसा हो सका। यही कारण है कि भारत ने जब ट्रम्प के बयान का खंडन कर दिया तो इमरान बिफर गए थे। उन्होंने ट्वीट किया था, भारत की प्रतिक्रिया से मैं हैरान हूं।

Posted By: Arvind Dubey

  • Font Size
  • Close