कोलंबो। भारत ने जिहादी आतंकवाद के साझा खतरे से निपटने में श्रीलंका को अपना पूरा समर्थन देने की पेशकश की है। ईस्टर संडे के दिन श्रीलंका में हुए सिलसिलेवार बम धमाकों में 11 भारतीयों समेत लगभग 260 लोगों की मौत हो गई थी। इसके बाद भारत ने यह पेशकश की है। यहां भारतीय उच्चायोग ने एक बयान में कहा कि उच्चायुक्त ने महानायके थेरोस के साथ मौजूदा सुरक्षा स्थिति की चर्चा के दौरान जिहादी आतंकवाद के साझा खतरे से निपटने में श्रीलंका को भारत के पूर्ण समर्थन की पेशकश की। बयान में कहा गया कि महानायके थेरोस ने श्रीलंका के प्रति भारत के बिना शर्त और मजबूत समर्थन की तारीफ की है।

श्रीलंका में भारतीय उच्चायुक्त तरणजीत सिंह संधु ने कैंडी के डालडा मालीगावाज और सेक्रेड टूथ रेलिक मंदिर में दो शीर्ष बौद्ध भिक्षुओं से अपनी हालिया मुलाकात के दौरान मौजूदा सुरक्षा हालातों पर भी चर्चा की।

श्रीलंका के सिलसिलेवार बम धमाकों को नौ आत्मघाती हमलावरों ने अंजाम दिया था, जो स्थानीय चरमपंथी समूह नेशनल तौहीद जमात (NTJ) के सदस्य बताए गए थे। इनमें एक महिला भी शामिल थी। हालांकि, इन बम धमाकों की जिम्मेदारी आंतकी संगठन इस्लामिक स्टेट ने ली थी।

Posted By: Neeraj Vyas