जेनेवा। संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद (UNHRC) में पाकिस्‍तान के आरोपों का जवाब देते हुए संयुक्त राष्ट्र में भारत की प्रतिनिधि ने कहा कि भारत के अपने राज्य में किए गए पुनर्गठन पर वहां को लोगों के साथ भेदभाव खत्म होगा।

पाकिस्तान एक बार फिर कश्मीर मुद्दे को यहां उठाने की कोशिश की। पाकिस्‍तान ने अनर्गल आरोप लगाए। पाकिस्‍तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने कहा कि कश्मीर में संयुक्त राष्ट्र के प्रस्तावों का उल्लंघन किया जा रहा है। UNHRC मानवाधिकार उल्लंघन पर ध्यान दे।

पाकिस्तान को करारा जवाब देने के लिए भारत ने भी भरपूर तैयारी की है। पाकिस्तान लगातार कथित मानवाधिकार हनन का हवाला देकर कश्मीर पर वैश्विक समुदाय का ध्यान आकर्षित कराना चाहता है। हालांकि, वह अब-तक इसमें नाकाम रहा है। भारत ने हर स्तर पर उसके झूठ को उजागर किया है।

पाकिस्तान के किसी भी प्रयास को विफल करने कोशिश

इस बैठक में भारत का प्रतिनिधित्व एक उच्चस्तरीय प्रतिनिधिमंडल द्वारा किया जा रहा है, जिसका नेतृत्व विदेश मंत्रालय के पूर्वी क्षेत्र के सचिव विजय ठाकुर सिंह और पाकिस्तान में पूर्व भारतीय उच्चायुक्त अजय बिसारिया कर रहे हैं। भारत यूएनएचआरसी में कश्मीर मुद्दे का अंतरराष्ट्रीयकरण करने के पाकिस्तान के किसी भी प्रयास को विफल करने में लगा हुआ है। भारत ने दिल्ली में कई विदेशी दूतों को कश्मीर के ताजा हालात की जानकारी दी है।